वर्दी की लाज बचाने के लिए अकेले भिड गया #Congress की पूरी सत्ता से लेकिन उसकी नौकरी अब घोर संकट में.. जानिए #PunjabPolice के उस जांबाज पुलिस अफसर के बारे में

SHO परमिंदर सिंह बाजवा- पंजाब पुलिस की लुधियाना पुलिस का वो जांबाज जिसने सत्ता के दवाब में आने से इनकार कर दिया तथा अवैध खनन करके राज्य को खोखला कर रहे पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह के ख़ास तथा शाहकोट सीट पर उपचुनाव में कांग्रेस प्रत्याशी हरदेव सिंह लाडी शेरावालिया के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया. SHO बाजवा का जहाँ इस साहसिक कार्यवाही के लिए सम्मान होना चाहिए था लेकिन पंजाब सरकार ने उसको दी सजा. जबरन उसको छुट्टी पर भेज दिया गया, जिसका खुलासा स्वयं SHO बजवा ने किया तथा अब उनके खिलाफ कार्यवाही की गयी है.

अब पंजाब के शाहकोट में एसएचओ परमिंदर सिंह बाजवा को पुलिस ने हिरासत में ले लिया है. एसएचओ बाजवा जालंधर के सेशन कोर्ट में खुद को सुरक्षा मुहैया करवाने की अर्जी दायर करने के लिए पहुंचे हुए थे. इस दौरान पुलिस ने उन्हें अनुशासन का उल्लंघन करने के मामले में हिरासत में ले लिया. कांग्रेस के प्रत्याशी हरदेव सिंह लाडी शेरावालिये के विरूद्ध अवैध खनन की रिपोर्ट महतपुर थाने के एसएचओ परमिन्दर सिंह बाजवा ने दर्ज की थी, जिसके बाद पंजाब की सियासत में भूचाल आ गया था. बता दें कि शुक्रवार को एसएचओ जालंधर के सैशन कोर्ट में खुद को सुरक्षा मुहैया करवाने की अर्जी दायर करने के लिए पहुंचे हुए थे. बाजवा ने कहा कि उसे पंजाब पुलिस पर भरोसा नहीं रहा है. इसलिए उसे किसी अन्य फोर्स की सिक्योरिटी दी जाए.

बाजवा ने बताया कि उन पर लाडी शेरावालिये पर दर्ज केस को वापस लेने के लिए दबाव बनाया जा रहा है. उन पर केस को वापस लेने के लिए धमकियां भी दी जा रही है. इस वजह से वह कोर्ट की शरण में आये है. बाजवा जैसे ही कोर्ट में पहुंचे पुलिस ने उन्हें गिरफ्तार कर लिया. पुलिस का कहना है कई बाजवा अपनी रिवाल्वर लेकर कोर्ट पहुंचे थे. पुलिस की इस दलील पर बाजवा का कहना है कि पंजाब पुलिस पर सत्ता का भयंकर दवाब है. SHO परमिंदर सिंह बाजवा का कहना है कि उसने कुछ भी गलत नहीं किया है. वह तो माननीय सेशन जज से मिलकर यह प्रार्थना करने गये थे कि मुझे सुरक्षा देकर हाईकोर्ट तक पहुंचाया जाए. मैं बहुत डरा हुआ हूं, मेरी जान को खतरा है. कोर्ट रूम में मैं अपना रिवाल्वर गलती से ले गया था.

SHO बजवा का कहना है पुलिस विभाग में ईमानदारी से ड्यूटी करने का क्या हाल होता है, यह आज पता चल गया. बाजवा ने कहा कि सरकार उसके साथ धक्का कर रही है. उसने तो केस सही दर्ज किया था, उसमें कुछ गलत नहीं था. गिरफ्तारी के बाद पुलिस ने SHO बाजवा को कोर्ट में पेश किया जहाँ से उन्हें 14 दिन की न्यायिक हिरासत में जेल भेज दिया गया है.

Share This Post