एक बार फिर आतंक के निशाने पर हैं राष्ट्रभक्ति की शिक्षा के पावन स्थल… जानिए कहां बह सकता है बेगुनाहों का खून

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ दुनिया का सबसे बड़ा स्वयंसेवी संगठन है जो हिन्दुस्तान की सभ्यता, संस्कृति, धर्म को विधर्मियों के चंगुल से बचाए रखने के लिए अपने उदय के साथ से ही संघर्ष करता रहा है. यही कारण कि हिंदुत्व विरोधी शक्तियां लगातार आरएसएस के खिलाफ तमाम साजिशें रचती रहती हैं. अब पंजाब में राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ (आरएसएस) को लेकर बड़ा खुफिया अलर्ट जारी किया गया है. जिसके बाद राज्य के विभन्न जिलों में चल रही हजारों आरएसएस की शाखाओं की सुरक्षा पर बड़ा सवाल खड़ा हो गया है. साथ ही आरएसएस नेताओं की सुरक्षा को लेकर किसी बड़े संभावित खतरे का अलर्ट जारी किया गया है.

गौरतलब है कि केन्द्रीय खुफिया एजेंसी द्वारा दिए गये इनपुट के बाद राज्य के विभन्न आरएसएस की हजारों शाखाओं आतंकी हमले के खतरे का संदेह जताया गया है. जिसके लम्बे समय से आरएसएस के नेता और इनकी शाखाएं आतंकी निशाने पर हैं. वहीँ ख़ास खुफिया इनपुट के बाद डीजीपी इंटेलिजेंस ने राज्य के पुलिस कमिश्नर्स व एसएसपीज को आरएसएस की शाखाओं की सुरक्षा सुनिशचित करने का निदेश जारी किया है. निर्देश में कहा गया है कि आरएसएस शाखाओं की सुरक्षा बढाई जाए तथा संघ की श्काहों के आस पास गहनता से नजर रखी जाये.

एक केन्द्रीय एजेंसी द्वारा जारी किये गये इनपुट में कहा गया है कि पंजाब में राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ तथा राष्ट्रीय सिख संगत के नेताओं और शाखाओं से जुड़े लोगों को आतंकी अपने निशाने पर ले सकते हैं। वहीँ इन नेताओं और संगठन से जुड़े लोगों को लगातार धमकियां मिल रही हैं। ऐसे में इनकी सुरक्षा को लेकर बड़ा खतरा बना हुआ है. इससे पहले भी पंजाब में एक आरएसएस के नेता की गोली मार कर हत्या कर दी गयी थी, जिसके बाद से आरएसएस की हजारों शाखाओं पर संभावित खतरे का साया बना हुआ है. अभी पूरे पंजाब में आरएसएस की हजारों शाखाओं का आयोजन होता है जिसे हिन्दू राष्ट्रवाद की कार्यशालाएं कहा जा सकता है, यही कारण है कि संघ आतंकियों के निशाने पर रहता है. 

Share This Post