एक नामी गायक ने छोड़ दी केजरीवाल की पार्टी.. एक बड़ी चेतावनी के साथ

आम आदमी पार्टी के मुखिया तथा दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल की मुसीबतें लगातार बढ़ती ही जा रही हैं. एकतरफ दिल्ली में जहाँ वह कांग्रेस के साथ गठबंधन के तमाम प्रयास कर रहे हैं लेकिन कांग्रेस उनको भाव नहीं दे रही है तो दूसरी तरफ पंजाब में एक के बाद एक आप नेता पार्टी से अलग होते जा रहे हैं.

आप की पंजाब इकाई में मचे आपसी घमासान के बीच मशहूर पंजाबी गायक जस्सी जसराज ने मंगलवार को आम आदमी पार्टी(आप) की प्राथमिक सदस्यता से इस्तीफा दे दिया है. प्रैस कांफ्रैंस करते हुए जस्सी जसराज ने पार्टी सुप्रीमो अरविंद केजरीवाल को बड़ी धमकी दी है। जस्सी ने कहा कि अगर आप ने अपनी किसी भी रैली में उनके गीत चलाए तो उनकी कंपनी एक बार गीत चलाने के पार्टी के खिलाफ कम से कम 5 करोड़ का दावा ठोकेगी. उन्होंने कहा कि दिल्ली में हुए विधानसभा चुनावों के दौरान उनके गाने ‘इन्कलाब-1’ और ‘इन्कलाब-2’ चलाए गए थे, जिनका चुनावों दौरान पार्टी को बहुत फायदा हुआ था पर अब अगर पार्टी ने अपनी किसी भी रैली में इन गानों की एक भी लाइन चलाई तो वह पार्टी को बख्शेंगे नहीं, बल्कि उसके खिलाफ केस दर्ज करवाएंगे.

जस्सी ने पार्टी के प्रति अपनी नाराजगी जाहिर करते हुए कहा कि पंजाब में उन्हें पार्टी ने वह अहमियत नहीं दी, जो उन्हें मिलनी चाहिए थी. उन्होंने कहा आप अपने लक्ष्य से भटक चुकी है. बता दें कि इससे पहले पंजाब के जैतो से विधायक बलदेव सिंह ने इस्‍तीफा था. 2018 में पंजाब में आप पार्टी में ऐसा बिखराव शुरू हुआ कि यह बिखरती ही चली गई. पार्टी के सशक्त प्रवक्ता सुखपाल खैहरा को उस समय पार्टी से अलग कर दिया गया, जब आम चुनाव नजदीक है।

पार्टी में संकट तब खड़ा हुआ जब सुखपाल खैहरा को विधायक दल के नेता के पद से हटा दिया गया. इस प्रकरण के बाद सुखपाल खैहरा ने पार्टी के खिलाफ मोर्चा खोल दिया. नवंबर 2018 में खैहरा के साथ अन्य विधायक कंवर संधू को पार्टी विरोधी गतिविधियों के लिए निलंबित कर दिया गया. पिछले दिनों खैहरा ने आम आदमी पार्टी को अलविदा कह कर “पंजाबी एकता पार्टी” का गठन कर लिया. खैहरा के साथ कम से कम 6 विधायक बताए जाते हैं.

Share This Post