Breaking News:

राजस्थान में कैबिनेट मंत्री बने सालेह मुहम्मद ने महादेव शिव की पूजा की .. बोले – “मेरे भी हैं रूद्र”

इसको भारत की बदलती राजनीति का एक बड़ा स्वरूप ही कहा जाएगा. शिव भक्ति के रंग में जब राहुल गाँधी डूबे थे तब भले ही उतनी चर्चा नहीं हुई रही होगी लेकिन जब राजस्थान सरकार में मंत्री बने सालेह मुहम्मद ने महादेव शिव के दरबार में अपना शीश झुका दिया तब हर तरफ उनकी शिवभक्ति शोर मचा गयी . हर किसी ने मंत्री के इस असल धर्मनिरपेक्ष रूप की तारीफ़ की और कांग्रेस के इस एकदम नये रूप का खुले दिल से स्वागत भी किया .

ज्ञात हो कि विजय के बाद जब राजस्थान के कैबिनेट मंत्री सालेह मोहम्मद ने जैसलमेर जिले के पोकरण स्थित शिव मंदिर में पूजा अर्चना की अब राजनीति में उनके साथी और समर्थक तो दूर उनके राजनैतिक विरोधी भी एक बार चकरा गये . राजस्थान की पोकरण सीट से विधायक और मुस्लिमो में एक बड़े नाम गाजी फकीर के बेटे सालेह मोहम्मद मंत्री पद की शपथ लेने के बाद पहली बार रविवार को अपने विधानसभा क्षेत्र में पहुंचे और यहां शिव मंदिर में पूजा अर्चना की।

यहाँ ये ध्यान रखने योग्य जरूर है कि गहलोत के मंत्रिमंडल विस्तार में कैबिनेट मंत्री के रूप में शपथ लेने वाले सालेह मोहम्मद को अल्पसंख्यक विभाग का जिम्मा दिया गया है। महादेव शिव के मंदिर में पूजा अर्चना करने के बाद सालेह मोहम्मद ने कहा, ‘आस्था से हमें नई सीख मिलती है और हम हमेशा जाते हैं, हम पहली बार नहीं जा रहे हैं।’ साथ ही उन्होंने धर्मनिरपेक्षता की असली परिभाषा बताते हुए आगे कहा कि देवी-देवता किसी एक जाति या धर्म के नहीं होते है। महादेव सबके देव हैं। यहां पर हिन्दू—मुस्लिम की बात नहीं है, हमारे यहां जो गंगा जमुनी तहजीब है, वो अपने आप में मिसाल है और आस्था अपनी होती है। बाबा रामदेव जी में हिन्दू—मुस्लिम सहित 36 कौमों की आस्था है।’ रामदेवरा नाम की जगह पर स्थानीय देवता बाबा रामदेव का मंदिर है।

Share This Post