राजस्थान की शान महाराणा प्रताप अब नहीं कहे जाएंगे महान.. कांग्रेस राज में फिर से अकबर का होगा गुणगान.. - Hindi News, हिंदी समाचार, Samachar, Breaking News, Latest Khabar -

Breaking News:

राजस्थान की शान महाराणा प्रताप अब नहीं कहे जाएंगे महान.. कांग्रेस राज में फिर से अकबर का होगा गुणगान..


आजादी के अमर हुतात्मा वीर सावरकर के बाद अब राजस्थान की कांग्रेस सरकार धर्म रक्षक वीर शिरोमणि महाराणा प्रताप “महान” के खिलाफ तनकर खड़ी हो गई है. आपको बता दें कि राजस्थान शिक्षा बोर्ड के नए पाठयक्रम में महाराणा प्रताप के नाम के आगे से महान शब्द हटा दिया है अर्थात जिस राजस्थान की पहिचान की महाराणा प्रताप से है उसी राजस्थान की किताबों में अब महाराणा प्रताप महान नहीं कहे जायेंगे तथा क्रूर मुग़ल आक्रान्ता विधर्मी अकबर का गुणगान किया जाएगा.

अमित शाह के रोड शो में घुस गये उन्मादी और शुरू किया पथराव. ममता राज में “जय श्री राम” बोल रहे लोगों पर पुलिस का भी लाठीचार्ज

कोरोना से पीड़ित गरीब लोगो के लिए आर्थिक सहयोग

बता दें कि राजस्थान की अशोक गहलोत सरकार ने हिंदुस्तान के गौरव, हिंदुस्तान की पहिचान तथा प्रेरणा, वीरता, स्वाभिमान तथा शौर्य के प्रतीक धर्म रक्षक वीर शिरोमणि महाराणा प्रताप “महान” के गौरवशाली इतिहास की धज्जियां उड़ा के रख दी हैं. राजस्थान की पिछली बीजेपी सरकार ने स्कूली पाठयक्रम की किताबों में महाराणा प्रताप के आगे महान शब्द जोड़ा तथा उन्हें हल्दी घटी युद्ध का विजेता बताया था लेकिन अब कांग्रेस सरकार ने किताबों में महाराणा प्रताप के आगे से महान शब्द हटा दिया है तथा विधर्मी अकबर का गुणगान किया गया है.

आपस में भिड गये देवबंदी और बरेलवी मुसलमान.. पीट का अधमरा किया एक को.. गाँव में तैनात हुआ भारी पुलिस बल

वीर शिरोमणि महाराणा प्रताप के गौरवशाली इतिहास की धज्जियां राजस्थान की कांग्रेस सरकार ने किस तरह से उड़ाई हैं, इसका अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है कि राजस्थान शिक्षक बोर्ड की 7वीं में पढ़ाया जाएगा कि हल्दीघाटी के युद्ध में महाराणा प्रताप को विजय मिली थी, जबकि 12वीं के बच्चे पढ़ेंगे कि प्रताप को पराजय का मुंह देखना पड़ा था. हार-जीत के यह दोनों ही तथ्य इस बार सिलेबस में नए सिरे से शामिल किए गए हैं जो इस बात को साबित करता है कि राजस्थान सरकार महाराणा प्रत्राप के इतिहास के साथ किस तरह खिलवाड़ कर रही है.

बच्चे ने पहली बार कदम रखा था मदरसे में तभी उस पर नजर पड़ी मौलवी इकबाल की.. बच्चे में दिखी उसे हवस और फिर …

राष्ट्रवादी पत्रकारिता को समर्थन देने व हमें मज़बूत करने के लिए आर्थिक सहयोग करें।

Paytm – 9540115511


सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को आर्थिक सहयोग करे और राष्ट्र-धर्म रक्षा में अपना कर्त्तव्य निभाए
DONATE NOW

Share