शंभूलाल रैगर के चलते चर्चित हुए राजसमंद में इस बार हमला आक्रान्ताओ का हिन्दू समाज पर


उन्होंने खुद को बेहद मासूम और न्यायप्रियसमाज समाज का बताते हुए भले ही शम्भू लाल रैगर के मुद्दे में जम कर सियासत भले की हो लेकिन जब उन्हें अपनी शांति का परिचय देना पड़ा तो उनमें से हर कोई शंभूलाल रैगर से बहुत आगे निकल चुका था..

ज्ञात हो की राजस्थान में कांग्रेस की तीन उपचुनाव सीटों पर जीत की घोषणा होने के ही आस पास राजसमंद में कट्टर मुस्लिम दंगाईयो ने प्रकाश भील युवक पर धारदार हथियारों से किया हमला प्रकाश को बचाने आये उसके दोनों चाचा को लाठी डंडे सरिया से मार मार कर घायल कर दिया है ..आक्रांताओं में किसी भी प्रकार का शासन प्रशासन का डर नही दिखा और वो मज़हबी उन्माद में हमला करते रहे ..

इस मामले से इलाके में साम्प्रदायिक तनाव फैल गया है जिसे काबू करने के लिए भारी पुलिस बल तैनात किया गया है औए स्थिति को तेजी से पटरी लाने के सभी प्रयास शासन प्रशासन द्वारा किये जा रहे हैं ..इस दुस्साहस से राजसमन्द के कट्टरपंथी  आक्रांताओं और हिन्दुओ पर दोष लगाने वाले दंगाईयो को बेनकाब कर दिया है ..स्थानीय जनता में आक्रान्ताओ की हरकतों से रोष व भय व्याप्त है .


सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को आर्थिक सहयोग करे और राष्ट्र-धर्म रक्षा में अपना कर्त्तव्य निभाए
DONATE NOW

Share