उबल रहा है राजस्थान कांवड़ियों पर हमले के बाद.. मालपुरा में पूरे अगस्त इंटरनेट बंद रखने की घोषणा बता रही स्थिति की गंभीरता

सिर्फ धर्म को नहीं बल्कि सत्ता को भी चुनौती थी ये .. अपने आराध्य की जय बोलते जा रहे भगवा वस्त्र धरियो पर अचानक ही पीछे से कायरों की तरह वार कर के उन्हें घायल कर देना अब कहीं न कहीं समाज की शांति और एकता को आघात पहुंचा रहा है क्योकि सहिष्णु समाज ने तोड़ दी है अपनी चुप्पी और आक्रांताओं को उनके अंदाज़ में देना शुरू कर दिया है मुहतोड़ जवाब .. वीडियो के वायरल होने के बाद सबने देख लिया है वो मंज़र जब कट्टर मज़हबी आक्रांताओं ने एक वर्ग को केवल महादेव की जय बोलने के अपराध में घेर कर मारा .. उनोने काफी समय तक प्रतीक्षा की जब उस इलाके में यात्रा आ जा जाए जहाँ वो ज्यादा संख्या में हटे हैं . 

विदित हो की स्थिति की गंभीरता को देखते हुए मालपुरा राजस्थान की कांवड़ यात्रा पर हमले के बाद इंटरनेट सुविधा को 31 अगस्त तक बंद कर दिया गया है। इस पूरे मामले में पुलिस ने पिछले चार दिनों में शांति भंग के आरोप में 50 से अधिक प्रदर्शनकारियों को गिरफ्तार कर लिया है लेकिन आक्रोश को इन प्रयासों के बाद भी पूरी तरह से दबाया नहीं जा सका है . हालत और गंभीर न हो इसके लिए इलाके में कर्फ्यू लगा दिया गया है . माहौल में फैले तनाव को देखते हुए पुलिस ने आम लोगों को केवल अपनी रोजमर्रा की जरूरी वस्तुओं की खरीदारी की ही छूट दे रखी है जिसके चलते इस बीच कोई अप्रिय घटना नहीं घटी ..

जानकारी के अनुसार कर्फ्यू में सोमवार को प्रशासन द्वारा सुबह 10 से दोपहर 4 बजे के बीच ढील दी गई। यहां इंटरनेट सेवाएं बंद होने के कारण लोगों को परेशानी हो रही है। यहां लगभग सभी ऑनलाइन काम ठप हैं। एडीएम कैलाश चंद शर्मा ने बताया कि कस्बे में इंटरनेट सेवा 31 अगस्त तक बंद रहेगी और इसके बाद हालातों को देखकर ही इंटरनेट चालू करने या नहीं करने का निर्णय किया जाएगा। कर्फ्यू में ढील के दौरान बाजारों में भीड़ उमड़ पड़ी। लोगों ने दूध सहित खाने-पीने का सामान खरीदा।  इससे पूर्व रविवार को रक्षा बंधन के कारण कर्फ्यू में दो घंटे तक की छूट दी गई थी। ढील के दौरान हिंसा की आशंका के चलते भारी पुलिस बल तैनात किया गया था। 

Share This Post