संदिग्ध गौतस्कर रकबर हत्याकांड में सबके कानों में गूंज गया भाजपा विधायक का बयान… बताया कि कैसे मरा रकबर

पिछले दिनों बेहद चर्चित रहे अलवर में संदिग्ध गौतस्कर रकबर खान की मौत को लेकर अलवर शहर से भाजपा विधायक बनवारी लाल सिंघल ने ऐसा बयान दिया है जिससे एक बार पुनः इसे लेकर सियासत गरमा गयी है. विधायक सिंघल का कहना है कि रकबर को किसी ने नही मारा बल्कि वह खुद ही जहर खाकर मर गया था. विधायक बनवारी लाल सिंघल ने कहा कि रकबर गो तस्कर था और जब वो पकड़ा गया तो उसे अपनी पोल खुलने का डर लगा. जिसकी वजह से उसने जहर खा लिया. बीजेपी विधायक ने आगे कहा कि रकबर की पुलिस पिटाई के भी कोई सुबूत नही है इसलिए पुलिस पर भी पीटने और लापरवाही का कोई आरोप नही बनता है. रकबर पूरी तरह से होशो-हवास में थाने लाया गया था जहां उसकी तबियत बिगड़ी है. पुलिस को किसी भी तरह की जांच और कार्रवाई से पहले विसरा रिपोर्ट का इंतजार करना चाहिए.

अलवर शहर से भाजपा विधायक सिंघल ने कहा कि उन्हें विश्वास है कि जो भी इस तरह के अपराध में शामिल रहते है उनके नेटवर्क के भंडाफोड़ नही हो जाये इसलिए वे अपने आप को समाप्त कर लेते है. पूरी तरह से ऐसा प्रतीत होता है कि रकबर ने जहर खाया है क्योंकि उसके मुंह से झाग निकल रहे थे. विधायक ने कहा कि विसरा रिपोर्ट के बाद दूध का दूध और पानी का पानी हो जाएगा. वहीं राजस्थान सरकार द्वारा इस मामले में की गई कार्रवाई की मुखालफत करते हुए सिंघल ने कहा कि जांच होने से पहले जल्दबाजी में पुलिस वालों को दंडित किया गया और तीन गो सेवकों को जेल में डाल दिया गया.

विधायक बनवारी लाल सिंघल ने कहा कि जिन गोभक्तों को गिफ्तार किया गया है उनके परिवार से मिलकर उनको हर संभव सहायता की जाएगी. पुलिस की पैरवी करते हुए विधायक सिंघल ने कहा कि पुलिस कभी भी सार्वजनिक रूप से पिटाई नहीं करती. इसलिए पुलिसवालों पर कोई कार्रवाई नही की जाए. ये लोग (पुलिसवाले) अपनी जान जोखिम में डालकर गोतस्करों का मुकाबला करते हैं, इसलिए पुलिस को निशाना नहीं बनाना चाहिए बल्कि पुलिस की तारीफ़ करनी चाहिए जो अपनी जान पर खेलकर हमारी सुरक्षा करते हैं.

Share This Post

Leave a Reply