कफील के राह पर ये डॉक्टर… आपसी लड़ाई में ले ली बच्चे की जान

डॉक्टर को भगवान कहा जाता है पर जब भगवान पैसे के लिए जान बचाने वाले पुण्य काम को बिज़नेस बना देता है तो उसको क्या कहा जाए ? एक तरफ डॉक्टर कफील जो अपनी स्वार्थ पूर्ति के लिए दर्जनों से भी ज्यादा बच्चो की जान का सौदा कर दिया। जिसको पुलिस तलाश कर रही है और पुलिस को अंदेशा है की कफील खान देश छोड़ कर फरार है। और अब ये मामला जिसमे एक बचे की जान चली गयी क्योंकि ऑपरेशन के वक़्त दो डॉक्टर आपस में लड़ गए ठीक उसी तरह जिस तरह जब गोरखपुर में बच्चे मर रहे थे उस वक़्त कफील खान फोटो खिचवाने में और हीरो बनने में बिजी था।

मामला राजस्थान के जोधपुर का है। जहाँ एक गर्भवती महिला की सर्जरी के दौरान दो डॉक्टरों के बीच तीखी बहस हुई। इस बहस के दौरान गर्भवती महिला ऑपरेशन टेबल पर पड़ी रही और डॉक्टर आपस में लड़ते रहे। उन डॉक्टरों की बहस की वजह से महिला के नवजात की जान चली गई। इस घटना का वीडियो सामने आया है जो की वायरल हो रहा है।
घटना जोधपुर के उमेद अस्पताल का है। जहाँ ऑपरेशन रूम में दो डॉक्टर एक-दूसरे को धमका रहे थे, लड़ रहे थे और उन दोनों के बीच बेहोश महिला पड़ी थी। वही पर अस्पताल का एक स्टाफ सदस्य ने मोबाइल से इस पूरे घटनाक्रम का वीडियो बना लिया। इसी बहस के बीच डॉक्टरों में शामिल एक ऑब्सटेट्रीशियन ने अंतत: डिलीवरी कराई लेकिन जन्म लेने वाला बच्चा जीवित नहीं बच सका। अगर ऑब्सटेट्रीशियन डिलीवरी नहीं करता तो महिला की भी जान जा सकती थी।

जब डॉक्टर रसूख का भूखा हो जाता है तो ऐसा ही करता है। वो भूल जाता है की उसकी कुछ नैतिक जिम्मेवारीया है। कफील भी अपनी नैतिक जिमेवारी छोड़ मीडिया का हीरो बनने में व्यस्त था वो भूल चूका था की अस्पताल के कमरों में कुछ बच्चे जिंदगी और मौत से लड़ रहे है। ये दोनों डॉक्टर भी ऐसा ही कर रहे थे महिला का ऑपरेशन करने के बजाये वो आपस में हि लड़ गए। उनका नाम डॉ नैनवाल और डॉ टाक है। दोनों को निलबित किया जा चूका है। 

Share This Post

Leave a Reply