गौहत्या का मुख्य केंद्र बन चुका था राजस्थान.. अब शकील के कत्लखाने से 200 से ज्यादा गायों की खाल बरामद

राजस्थान के अलवर जिले में गौरक्षकों से भिड़त के साथ हाथापाई में गौतस्कर रकबर खान की मौत के बाद न सिर्फ राजस्थान बल्कि देशभर की राजनीति में भूचाल आ गया था तथा तमाम राजनेता व बुद्धिजीवी गौरक्षकों तथा हिन्दू संगठनों पर हमलावर हो रहे थे. लेकिन ये खबर ऐसी है जो साबित करती है कि राजस्थान का अलवर गौह्त्या का एक बड़ा अड्डा बन चुका था जहाँ विधर्मी लगातार गौहत्या को अंजाम दे रहे थे. ज्ञात हो कि हाल ही में अलवर के गोविन्दगढ़ में गौतस्करी में शामिल 4 महिलाओं को गिरफ्तार किया गया था, इसके बाद एक अन्य गौतस्कर शकील की गिरफ्तारी हुई थी.

अलवर जिले के गोविन्दगढ़ कस्बे में गौ कत्ल्खाना चलाने वाले गौहत्यारे शकील ने गिरफ्तार होने के बाद पूछताछ के दौरान चौंकाने वाला खुलासा किया है. पुलिस को उसने बताया है कि यहां पिछले तीन साल से अवैध रूप से बूचड़खाना संचालित है.  अलवर में गोकशी की घटना के मुख्य आरोपी शकील को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है. मामले में कार्रवाई के दौरान मंगलवार को पुलिस की गिरफ्त में आए शकील से पूछताछ की गई. साथ ही पुलिस ने शकील के दो गोदामों की डॉक्टरों की मौजूदगी में तलाशी ली. इस दौरान पुलिस ने आरोपी शकील के दोनों गोदामों को बुधवार को खुलवाया. गोविन्दगढ़ में बुधवार सुबह हरिजन मोहल्ले में पशु चिकित्सक के साथ थानाधिकारी गोविंदगढ़ धारा सिंह मीणा पहुंचे. इस दौरान आरोपी शकील के दोनों गोदाम खुलवाए गए.  तलाशी के दौरान गोदामों में से 221 गाय की खाल, 82 भैंस और 47 बकरियों की खाल बरामद की गई.  डॉक्टर जितेंद्र पाल सिंह चैहान ने पशुओं की चमड़े की अलग और बाकी बकरी भैंस पांडे की भी खाल की अलग-अलग कर पहचान कर गिनती की.  गोदाम से कुल 350 जानवरों की खाल बरामद की गई.

इसके बाद पुलिस ने बरामद की गयी खाल को जेसीबी से गड्ढा खुदवाकर दबवा दिया है.  पुलिस की पूछताछ में सामने आया है कि आरोपी पिछले तीन साल से क्षेत्र में अवैध रूप से बूचड़खाना चला रहा था. जिसमें बड़े पैमाने पर गोकशी को अंजाम दिया जाता था.  आरोपी भरतपुर, अलवर के अलावा हरियाणा में गोमांस की सप्लाई कर रहा था. सप्लाई के नेटवर्क की तलाश पुलिस आरोपी के सप्लाई के नेटवर्क को तोड़ने में जुटी हुई है. फिलहाल पुलिस ने इस मामले में मुख्य आरोपी शकील और उसके परिवार की तीन महिलाओं को गिरफ्तार कर लिया है तथा बाकी अन्य गौतस्करों की गिरफ्तारी के लिए पुलिस प्रयास कर रही है.

Share This Post