हिन्दू भावनाओं का सम्मान करना ही होगा मुसलामानों को, बेहतर होगा कि वे अपना गोरखधंधा बंद कर दें– बीजेपी मंत्री

मुस्लिमों को ये भली भांति पता है की गाय हिन्दुओं के लिए माता है. हिन्दू धर्म में गाय को माता का दर्जा दिया गया है. ये जानने के बाद भी कि गाय हिन्दुओं कि माता है फिर भी गौतस्करी कि जाएगी तो हिन्दुओं का आक्रोशित होना स्वाभाविक है. इसलिए साम्प्रदायिक सद्भाव बनाये रखने के लिए, सामजिक समरसता बनाये रखने के लिए मुस्लिम समाज के लोगों को चाहिए कि वह गौहत्या जैसे गोरखधंधे बंद व हिन्दू आस्थाओं का सम्मान करें. ये कहना है राजस्थान कि वसुधंरा राजे सरकार में श्रम मंत्री जसवंत यादाव का.

राजस्थान के श्रम मंत्री जसवंत सिंह यादव ने कहा है कि मुस्लिम और मेव समाज के लोगों को हिंदुओं की भावना का आदर करते हुए गो-तस्करी बंद कर देनी चाहिए. वहीं अलवर (शहर) के भाजपा विधायक बनवारी लाल सिंघल ने प्रदेश के अलवर और भरतपुर तथा हरियाणा के कुछ हिस्से में फैले मेवात क्षेत्र में अपराध के लिए मेव समाज को जिम्मेदार ठहराया है. राजस्थान के श्रम मंत्री जसवंत यादव ने बीते मंगलवार को एक विवादित बयान देते हुए मुस्लिम और मेव समाज के लोगों से हिंदुओं की भावनाओं का आदर करते हुए गो-तस्करी का ‘गोरखधंधा’ बंद करने को कहा है. यादव ने हालांकि अपने बयान में कानून हाथ में लेने वालों की निंदा करते हुए कहा कि इससे बड़ा कोई अपराध नहीं हो सकता है लेकिन इसकी आड़ में किसी भी हालात में गौतस्करी को जायज नहीं ठहराया जा सकता है.

जसवंत यादव ने जयपुर में संवाददाताओं से बातचीत में कहा, ‘मुस्लिम और मेव समुदाय के लोगों को गायों का गोरखधंधा बंद कर हिंदुओं की भावनाओं को समझना चाहिए ताकि देश में सद्भावना बनी रहे.’ उन्होंने कहा कि हिंदुओं की भावनाएं गाय से जुड़ी हुई हैं इसलिए आए दिन गाय के नाम पर हमले हो रहे है. यादव ने कहा कि 50 गायें एक ट्रक में ठूस दी जाती हैं और उनके मुंह में तेजाब डाला जाता है, जिससे हिंदुओं का खून खोलता है, इसलिए मुस्लिम समाज को हिंदुओं की भावनाएं और गाय के प्रति आस्था का सम्मान करना चाहिए.

Share This Post