3 साल की बच्ची को नोंच डाला दरिन्दे जावेद ने… खामोश हैं बुद्धिजीवी व बॉलीवुड के तमाम नाम

आखिर वो कौन सी सोच है जो हर नारी वर्ग को अपनी हवस की भूख मिटाने का साधन समझती है ? आखिर वह कौन सी सोच है जो अपनी हवस की पूर्ति के लिए दरिंदगी की सारी हदें पार कर देती हैं ? वह कौन सी सोच है जो अपनी दुराचारी जाहिल आदमियत वाली बहशी मानसिकता का शिकार जहाँ अपनी माँ की आयु की महिलाओं को भी बनाती है तो वहीं मासूम छोटी बच्चियों तक को भी बना लेती हैं. क्या ऐसे लोग इंसान कहलाने लायक हैं जो 3 साल की बच्ची के साथ दरिंदगी करते हैं, उनके बचपन को कुचल देते हैं ?

इसी बहसी जाहिल आदमियत वाली सोच का शिकार बिहार के पूर्णिया की 3 वर्षीय मासूम बच्ची हुई जिसके साथ जावेद आलम नामक दरिन्दे ने बलात्कार किया. जानकारी के मुताबिक शुक्रवार को घटना के वक्त पीड़िता अपने घर के समीप खेल रही थी. इसी दौरान गांव का युवक जावेद आलम उधर से गुजरा. बच्ची को बहला-फुसलाकर जलावन घर के पास ले गया और उसे अपनी हवस का शिकार बनाया. बच्ची की चीख-पुकार सुनकर रसोइघर में खाना बना रही उसकी मां दौड़कर जलावन घर के पास आयी तो आरोपी युवक को भागते हुए देखा. जबतक में परिजन कोई कानूनी कदम उठा पाते तब तक आरोपी पक्ष ने पंचायत बैठा ली.

बताया गया कि बच्ची का पिता मजदूरी के लिए परदेस गया हुआ है  इसलिए आरोपी पक्ष की ओर से पंचायत में काफी दबाव दिया गया. पीड़ित पक्ष को 20 हजार रुपये देने की पेशकश भी की गई पर पीड़ित पक्ष आरोपी पर कार्रवाई की मांग पर अड़ा रहा. आखिर में शनिवार की शाम को पीड़ित बच्ची के परिजन बायसी थाना पहुंचे और पुलिस के समक्ष घटना का खुलासा किया. पुलिस के सामने भी पीड़िता दर्द से बेहाल थी. उसे मेडिकल जांच के लिए ले जाया गया. बायसी थानाध्यक्ष सुभाष बैद्यनाथन ने बताया कि आरोपी को पकड़ने के लिए एसआई विजय कुमार व एएसआई अब्दूल मन्नान समेत पुलिस टीम को छापेमारी में लगाया गया है. एसपी विशाल शर्मा ने बताया कि आरोपी को पकड़ने के लिए पुलिस कार्रवाई शुरू कर दी गई है. इसकी जांच करायी जाएगी कि आखिर देर से सूचना आने के पीछे परिजनों पर कोई दबाव तो नहीं था?

Share This Post

Leave a Reply