भारत भूमि की वंदना “वन्देमातरम” को सांप्रदायिक बताने वाले लालू संग खड़ी बता रहे “बिहार भूमि”

 पितृ मोह में लालू के दोनों बेटे इतने आहत है कि अब वे देश के कानून को ही झूठा समझने लगे है। उन्हें लगता है की देश के संबिधान से मोदी सरकार

बड़ी है और पिता को बीजेपी ने जेल भेजा है। जिस कारण आये दिन दोनों बेटे प्रधानमंत्री और बीजेपी पर पिता को जेल डालने का आरोप लगाते रहते है। ये लालू

के वही बेटे है जो नेता बनने के बाद सपथ पत्र भी ढंग से नहीं पढ़ पाए थे। और ऐसे लोगो को लालू के दबाव में बिहार की कमान दे दी गयी थी।

गनीमत रही की

बिहार के CM नितीश कुमार ने अपनी दूरदर्शिता से समय रहते लालू से गठबंधन तोड़ लिया। जिसके बाद दोनों बेटे नाम के नेता रह गए है और समय बिताने के

लिए कभी ट्वीटर तो कभी पिता के लिए कबिताये गा रहें है।

चारा घोटाला मामले में राष्ट्रीय जनता दल (राजद) अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव के जेल जाने के बाद उनके बेटे तेजस्वी यादव लगातार अपने विरोधियों पर हमला

बोल रहे हैं। शनिवार को उन्होंने ट्वीट किया कि लालू यादव के साथ बिहार की भूमि खड़ी है।

इससे पहले भी उन्होंने एक कविता के माध्यम से लालू प्रसाद को

‘शेर’ बताया था, वहीं शुक्रवार को जनता दल (यूनाइटेड) ने भजन ‘पिंजड़े के पंछी रे तेरा दर्द न जाने कोय’ सुनाकर लालू को निर्दोष बताने की कोशिश की।

चारा घोटाला के एक मामले में अदालत द्वारा दोषी करार दिए जाने के बाद से बिहार विधानसभा में विपक्ष के नेता तेजस्वी यादव ट्विटर के माध्यम से लगातार

पिता को निर्दोष साबित करने में लगे है।

तेजस्वी ने शनिवार को लोगों को संबोधित करते हुए अपने पिता लालू प्रसाद यादव की एक तस्वीर ट्वीट की। साथ ही

उन्होंने लिखा कि ‘बदल देंगे उन ताकतों को जिनसे सत्ता घूमी है लालू जी के साथ खड़ी यह बिहार की भूमि है.’ उल्लेखनीय है कि तेजस्वी इन दिनों काव्यात्मक

शैली में विरोधियों पर निशाना साध रहे हैं। विदित हो कि चारा घोटाला मामले में सजायाफ्ता लालू झारखंड की एक जेल में बंद हैं। अदालत आगामी तीन जनवरी

को लालू को सजा सुनाने वाली है। 

Share This Post