Breaking News:

हिंदू लड़की का अपहरण किया तो धैर्य खो दिया हिन्दुओं ने.. फिर वही हुआ जिसे वामपंथी कहते हैं ‘असहिष्णुता”

कहा जाता है कि जब बात अपनी अस्मिता पर आती है, स्वाभिमान पर आती है तब प्रतिकार करना पड़ता है. एक और बात कही गई है कि “सीमा से ज्यादा संयम भी कायरता कहलाता है”.. आप लगातार संयम दिखाते रहें, शांति तथा अहिंसा की बात करते रहें और इस बीच जब विधर्मी आपके परिवार की आबरू तबाह करने पर आमादा हो जाएँ, तब आप क्या करेंगे? वही करेंगे जो उत्तर प्रदेश के आगरा के खंदौली में हिन्दुओं ने किया.

आगरा में मजहबी उन्मादियों ने जब नाबालिग हिन्दू लड़की का अपहरण किया तो हिन्दू समुदाय के लोगों ने धैर्य खो दिया. उसके बाद उन्होंने वही किया जिसे वामपंथी तथा कथित बुद्धिजीवी असहिष्णुता कहते हैं. खबर के मुताबिक़, मुस्लिम समुदाय की उन्मादी युवकों के द्वारा नाबालिग हिन्दू लड़की के अपहरण से गुस्साए मुस्लिम समुदाय के लोगों पर हमला बोल दिया. तनाव बढ़ा तो आगजनी भी शुरू हो गई. सांप्रदायिक तनाव की सूचना पर भारी संख्या में पुलिस बल पहुंचा तथा स्थिति को नियंत्रण में लिया. वहीं पुलिस ने किशोरी को भी बरामद कर लिया तथा मुस्लिम उन्मादी को गिरफ्तार कर लिया.

खबर के मुताबिक़, 15 वर्षीय छात्रा सैमरी स्थित अपने ननिहाल में रहकर पढ़ाई करती है. छात्रा सुबह स्कूल गई थी, लेकिन घर नहीं लौटी. इसके बाद दोपहर एक बजे उसकी तलाश शुरू हुई. कई दिन से गली में चक्कर काट रहे दानिश तथा उसके साथियों पर किशोरी के परिजनों को शक हुआ. छात्र के अगवा होने की सूचना पुलिस को देने के बाद खोजबीन में जुटे परिजनों के पास धमकी भरा फोन आया कि किशोरी उनके पास है पुलिस को मत बताना.

किशोरी के परिजनों ने इसकी सूचना भी पुलिस को भी दी. शाम तक कार्रवाई नहीं हुई तो हिन्दुओं का धैर्य जवाब दे गया. आक्रोशित हिन्दू शाम साढ़े 5 बजे सिमरा चौराहे पर पहुँच गये तथा हंगामा कर दिया. आक्रोशित हिन्दुओं ने हिन्दू किशोरी का अपहरण करने वाले उन्मादियों के घर पर हमला बोल दिया. सूचना पर पुलिस बल पहुंचा लेकिन हिन्दुओं का आक्रोश नहीं हुआ, इससे पुलिस के भी हाथपांव फूल गये. इसी दौरान आक्रोशित लोगों ने आगजनी कर दी, दुकाने में आगजनी भी ख़बरें भी सामने आईं.

सूचना पर आईजे (रेंज) ए सतीश गणेश, एसएसपी, डीएम समेत दस थानों की फोर्स और पीएसी के जवान मौके पर पहुंच गए तथा लोगों को शांत करने का प्रयास किया. जानकारी भी आई कि हिन्दुओं के आक्रोश को देखते हुए आरोपी पक्ष के 50 लोग गांव से पलायन कर गए. हालाँकि इसकी पुष्टि नहीं हो सकी. सतीश गणेश ने बताया कि अपहृत छात्रा की बरामदगी कर ली गई है. गांव में पुलिस और पीएसी लगा दी गई है. तोड़फोड़ करने वालों के तलाश में दबिश दी जा रही है. उनकी जल्द गिरफ़्तारी की जाएगी.

राष्ट्रवादी पत्रकारिता को समर्थन देने के लिए हमें सहयोग करें. नीचे लिंक पर जाऐं–

राष्ट्रवादी पत्रकारिता को समर्थन देने हेतु हमे आर्थिक सहयोग करे. DONATE NOW पर क्लिक करे
DONATE NOW