दुर्दांत गौ तस्कर निकला सपा का नेता.. रहता था “इस्लामाबाद” में

उत्तर प्रदेश की नॉएडा पुलिस द्वारा गिरफ्तार किये गये दुर्दांत गौतस्कर आरिफ के बारे में हैरान करने वाला खुलासा हुआ है. जानकारी मिली है कि गौतस्कर आरिफ समाजवादी पार्टी का नेता था, जिसने सपा सरकार के दौरान आरिफ ने जमकर अपनी संपत्ति बनाई तथा अपना कारोबार बढ़ाया था. बता दें कि मुठभेड़ के बाद नोएडा पुलिस ने इस्लामाबाद के इनामी गौ तस्कर आरिफ सहित तीन गौतस्करों को गिरफ्तार किया था. आरिफ पर गौ तस्करी, गौवध और दूसरे मामलों में 49 मामले दर्ज हैं. आरोपियों के पास से पुलिस ने तीन तमंचे भी बरामद किए हैं.

एक जिला जहाँ इस्तीफा दे दिया जिलाध्यक्ष सहित कई कांग्रेसियों ने.. वजह बताई प्रियंका गांधी का ये व्यवहार

एसपी सिटी सुधा सिंह ने बताया कि खुर्जा के मोहल्ला शेखपैन का रहने वाला आरिफ पश्चिमी यूपी में गोकशी का सबसे बड़ा सरगना है. उसने 1996 में गोकशी शुरू की और देखते ही देखते खुर्जा, बुलंदशहर, नोएडा, दिल्ली और गाजियाबाद में करोड़ों संपत्ति खड़ी कर ली. उसके तीनों भाई कासिम, रिजवान और अफसर भी गोकशी के धंधे में शामिल हैं. इन दिनों वह इस्लामाबाद- हसनगढ गांव का प्रधान है. उस पर चार बार गैंगस्टर और 5 बार गुंडा एक्ट में भी कार्रवाई हो चुकी है. वहीं उसके भाई कासिम पर 23 तो यासीन के खिलाफ पांच मामले दर्ज हैं.

12 साल के मासूम के साथ कुकर्म किया हवस में अंधे मौलवी ने.. घटना कांग्रेस शासित राजस्थान की

नॉएडा पुलिस ने बताया कि पिछले तीन दिन से सूचना मिल रही थी कि खुर्जा-बुलंदशहर के तीन इनामी गौ तस्कर नोएडा में कहीं छिपे हुए हैं. शुक्रवार की रात मुखबिर की सूचना पर पुलिस टीम ने सेक्टर आठ की रेड लाइट पर घेराबंदी कर आरिफ, उसके भाई कासिम तथा साथी यासीन को गिरफ्तार कर लिया. पूछताछ में पता चला कि दिल्ली-एनसीआर में भी तीनों के कई ठिकाने हैं. तीनों लोगों पर ही गुंडा एक्ट, गैंगस्टर एक्ट लगी है और हिस्ट्रीशीटर हैं.

नॉएडा से बलिया तक एक उत्तर प्रदेश को 2 अलग भागों बंटा में मानती है कांग्रेस ?.. क्या बंटवारा ही होगा राजनीति का आधार ?

सूत्रों के मुताबिक हाजी आरिफ गैंग गैंग संगठित तरीके से गोकशी के धंधे में लगा हुआ है. इस गिरोह में शामिल 40- 50 लोग अलग-अलग शहरों में फैले हुए हैं. किसी भी शहर से बीफ की डिमांड आने पर वह उस इलाके में सक्रिय अपने गुर्गों से कहकर प्रतिबंधित पशुओं को कटवाकर उनका मीट पार्टी को सप्लाई कर देता. इसके अलावा वह अपने अवैध स्लॉटर हाउस में जानवरों को कटवाकर उनका मीट हापुड़ और मेरठ के बड़े स्लॉटर हाउस को भी सप्लाई करवाता था.

मुसलमानो के खिलाफ ऐसा क्या कह दिया गिरिराज सिंह ने कि भड़क गए मौलाना..

पता चला है कि सत्ता संरक्षण के कारण गौतस्कर आरिफ पकड़े जाने पर पैसे के बल पर बच जाता था. उसने 2015 में खुर्जा देहात के एसओ वीरेंद्र यादव को भी फोन करके हड़का दिया था. उसके बाद पुलिस ने रेड डालकर उसे अरेस्ट कर लिया था, लेकिन कुछ ही दिन में उसे जमानत मिल गई. आरिफ को इलाके में समाजवादी नेता के तौर पर भी जानते हैं. अखिलेश यादव सरकार में उसने जमकर सम्पत्ति बनाई और धड़ल्ले से अपना कारोबार बढ़ाया.

रोहिंग्या और बंगलादेशी बसाने की हो रही पैरवी, लेकिन जब समीउद्दीन की दुकान के आगे मुरारी ने 5 मिनट बाइक खड़ी की तो ये हुआ हाल

गौरतलब है कि करीब 3 साल पहले मेरठ से गौतस्कर आरिफ का एक वीडियो वायरल हुआ था, जिसमें वह एक महफिल में हाथों में तमंचा लेकर एक बार डांसर के नाचता दिख रहा था. आरिफ की गुंडागर्दी का अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है कि उसने अवैध स्लॉटर हाउस को बंद करवाने की मांग करने पर 2017 में सदर विधायक वीरेंद्र सिंह सिरोही को भी जान से मारने की धमकी दे दी थी. तब से खुर्जा समेत आसपास के जिलों की पुलिस उसके पीछे लगी थी.

UP पुलिस की छवि को तार तार कर गया सिपाही यूसुफ़.. थाने में जो कुछ हुआ वो गरिमा गिराया वर्दी की

राष्ट्रवादी पत्रकारिता को समर्थन देने व हमें मज़बूत करने के लिए आर्थिक सहयोग करें।

Paytm – 9540115511

http://sudarshannews.in/donate-online
Share This Post