Breaking News:

अभी बलिदान हुआ था विधायक पति लेकिन लोकतंत्र की चौखट पर वीरांगना पत्नी नतमस्तक.. भाजपा विधायक की पत्नी लाइन में दिखी वोट डालने के लिए

लोकसभा चुनाव 2019 के पहले चरण के मतदान 11 अप्रैल से 2 दिन पहले 9 अप्रैल को छत्तीसगढ़ के बस्तर संभाग के दंतेवाडा संसदीय क्षेत्र में नक्सलियों ने मौत का खूनी खेल खेला. नक्सलियों ने बीजेपी विधायक भीमा मंडावी के काफिले पर हमला कर दिया. नक्सलियों के इस हमले में विधायक भीमा मंडावी उनके ड्राइवर और तीन पुलिसकर्मी बलिदान हो गये थे. अब भीमा मंडावी की पत्नी का लोकतंत्र के पार्टी समपर्ण का वो स्वरुप सामने आया है, जिसे देख हर कोई उन्हें सैल्यूट कर रहा है.

श्रीरामनवमी को बता दिया वोट बटोरने का नया हथकंडा.. चुनाव ले रहा नए नए रूप

बता दें कि मौत के दूसरे दिन बुधवार को विधायक भीमा मंडावी का अंतिम संस्कार किया गया, जिसके बाद 11 अप्रैल को मतदान वाले दिन उनकी अस्थियों को परिवार ने उठाया और विसर्जित किया. भीमा मंडावी की अस्थियों को विसर्जित करने के बाद परिवार के लोग अपने गांव के पोलिंग बूथ गदापाल में वोट डालने पहुंचे. भीमा मंडावी के पिता लिंगा मंडावी, भीमा मंडावी की पत्नी और अन्य सदस्य मतदान करने पहुंचे.

कभी संजय दत्त, जया बच्चन को प्रचार में उतारने वाली पार्टी ने एक भोजपुरी कलाकार को कहा नाचने वाला

पोलिंग बूथ पर बलिदानी विधायक भीमा मंडावी की पत्नी को वोट डालने के लिए लाइन में लगा देख हर कोई दंग रह गया. पति की मौत और नक्सलियों की धमकी भी लोकतंत्र को मजबूत करने को उनका हौसला नहीं डिगा सकी तो बलिदान विधायक के पिता भी लोकतंत्र को मजबूत करने के लिए वोट करने के लिए लाइन में लगे तथा वोट किया. बता दें कि नक्सली हमले में मौत के बाद बीजेपी विधायक भीमा मंडावी के पिता लिंगा मंडावी ने बताया कि घटना से करीब दो घंटे पहले कोई उनके घर आया था.

नेहरू खानदान को आज भी ब्राह्मणों के श्राप से शापित बताया एक बड़े नाम ने.. कौन है वो और कौन सा है वो शाप ?

उसने कहा कि शाम तक तेरे बेटे की लाश आएगी. इसके बाद शाम करीब पांच बजे नक्सलियों ने आईईडी ब्लास्ट कर विधायक भीमा मंडावी के वाहन को उड़ा दिया. भीमा मंडावी की पत्नी ने कहा कि उनके पति ने अपने प्राणों का बलिदान कर दिया लेकिन वह नक्सलियों के दवाब के आगे झुके नहीं तो वह नक्सलियों से कैसे डर सकती हैं. उन्होंने कहा कि वह डालने इसलिए आई हैं ताकि नक्सलियों को बता सकें कि भीमा मंडावी के बलिदान के बाद भी उनका परिवार कमजोर नहीं हुआ है बल्कि भारतमाता की जय बोलते हुए दोगुनी ताकत के साथ  नक्सलियों के नापाक इरादों को कुचलने को तैयार है.

अगली सरकार बनने पर कश्मीर से हटेगी 370, देशभर में लागू होगा NRC तथा हर हिन्दू शरणार्थी को मिलेगी नागरिकता- अमित शाह

राष्ट्रवादी पत्रकारिता को समर्थन देने व हमें मज़बूत करने के लिए आर्थिक सहयोग करें।

Paytm – 9540115511

Share This Post