हिन्दू ही नहीं उनके देवता भी निशाने पर. हथियार ही नहीं बल्कि दिमाग से भी होने वाला था वार बिजनौर के मदरसे से.. बीच में आया हिन्दुओ के “खाटू श्याम” का नाम

यहाँ खबर से पहले ही धन्यवाद बनता है उत्तर प्रदेश की बेहद सतर्क बिजनौर का जिसने ऐसी साजिश से पर्दा उठाया है जो आने वाले समय के लिए नासूर बनने वाली थी .. अपराध के लिए मत और मजहब तक बदल डालने की पूरी तैयारी थी और बदनाम करने की कोशिश थी हिन्दू समाज को .. पर उनके सभी मंसूबो पर आख़िरकार पुलिस की सतकर्ता से से पानी फिर गया और गिरफ्तार हुए असल मुलजिम और बरामद हुआ मौत का सामान भी जो आने वाले समय में किसी अनिष्ट के लिए रखा हुआ था ..

विदित हो कि बिजनौर के मदरसा दारुल कुरआन हमीदिया में दवाई के डिब्बे में रखे हथियार को बरामद करने के बाद आखिरकार सभी अभियुक्तो को पुलिस ने मीडिया के आगे प्रस्तुत किया और उसके बाद खुद इस कार्य को अपने निर्देशन में करवाने वाले जांबाज़ IPS अधिकारी संजीव त्यागी ने इस मामले की परत पर परत खोली.. इस खुलासे के बाद जो सच सामने आया उसको सुन कर किसी के भी रोंगटे खड़े हो सकते हैं और साजिश का खुलासा हुआ हिन्दुओ को बदनाम करने का .

ज्ञात हो कि कांधला रोड पर थाना शेरगढ़ क्षेत्र में मदरसे से बरामद हुए हथियारों के साथ पुलिस ने एक स्विफ्ट डिजायर कार भी बरामद की है जिसका नम्बर UK 18 7100 है. ये गाडी मदरसे के मदरसा संचालक मोहम्मद साजिद की बताई जा रही है.. इस पर सबसे खास बात ये है कि शीशे पर हिन्दुओ के पवित्र माने जाने वाले खाटू श्याम का वाक्य “हारे का सहारा , बाबा श्याम हमारा” लिखा है .. माना जा रहा है कि ये कार हथियारों को लाने ले जाने में प्रयोग होती थी जो अब पुलिस के कब्जे में है . इस मामले में अभी आसिफ और आरिफ फरार चल रहे हैं जिनकी गिरफ्तारी के लिए पुलिस टीमे लगातार दबिश दे रही हैं .

Share This Post