कांग्रेस के बाद अब मायावती की पार्टी में मची भगदड़. एक कद्दावर दलित नेता बाहर जो हो गया बागी…


बीजेपी की प्रचंड बहुमत के बाद किसी भी विपक्षी दल के पास इतनी भी ताकत नहीं रही की, कम से कम अपनी पार्टी के सदस्यों को अपने साथ रोक पाए। सभी

विपक्षी पार्टियों में भगदड़ सी मच गयी हैं। कांग्रेस, सपा, बसपा सहित सभी विपक्षी दलों में मोदी की भय साफ तौर पर बरक़रार है। विपक्षी पार्टियों में मची भगदड़

के बीच एक और खबर आ रही है की बसपा के एक सीनियर नेता ने भी पार्टी को अलविदा किया। ये नेता मायावती सरकार में कैबिनेट मंत्री भी रह चुके हैं।

बीएसपी प्रमुख मायावती ने नसीमुद्दीन सिद्दीकी के बाद बुधवार को एक और पूर्व कैबिनेट मंत्री इंद्रजीत

सरोज को पार्टी से खो दिया है। पार्टी से बाहर आते ही इंद्रजीत सरोज ने मायावती पर बड़ा हमला बोला है। इंद्रजीत सरोज ने कहा कि मायावती पैसे की देवी है

इनको पैसे लेने की बीमारी है। मायावती को किसी अच्छे डॉक्टर से इलाज करवाना चाहिए जिससे इनके पैसे लेने की लत छूट जाए।

उन्होंने कहा कि पार्टी लगातार गर्त में जा रही है। पार्टी से निकलने की खबर पाकर कई विधायकों और सैकड़ों कार्यकर्ताओं ने पार्टी छोड़ने का भी मन बना लिया है।

क्योंकि इंद्रजीत सरोज पार्टी के गैर जाटव दलित चेहरा है। सरोज जिस पासी समाज से आते हैं, वह जाटव के बाद दूसरी सबसे बड़ी दलित समाज है। अवैध से

लेकर पूर्वांचल तक इलाके में राजनीतिक समीकरण बनाने और बिगाढ़ने में पासी समाज अहम भूमिका अदा करता है।

गौरतलब है कि 2012 के विधानसभा चुनाव के बाद से ही बसपा के नेता एक के बाद एक पार्टी से छोड़ रहे हैं या फिर बसपा प्रमुख मायावती उन्हें पार्टी से बाहर

का रास्ता दिखा दे रहीं हैं। स्वामी प्रसाद मौर्य और नसीमुद्दीन सिद्दीकी के बाद इंद्रजीत सरोज का पार्टी से बाहर होना काफी बड़ा झटका है।


सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को आर्थिक सहयोग करे और राष्ट्र-धर्म रक्षा में अपना कर्त्तव्य निभाए
DONATE NOW

Share