पुलिस देखते ही गौ हत्यारों ने आगे कर दिया घर की औरतों को , लेकिन अंत मे हुआ न्याय. हर कोई बोला- “शाबाश अयोध्या पुलिस”

ये वही दर्द , समस्या व स्थिति है जिस से कश्मीर में जूझ रहे है हमारी सेनाक जांबाज़ व शेरदिल जवान.  वहां भी आतंकी व आतंकियों के गद्दार समर्थक कभी औरत का वेश बना कर आते हैं तो कभी औरतों को आगे कर देते हैं जब सामने हार निश्चित दिखती है उन्हें तो .. भारत के सुरक्षा बलों, सैनिको व पुलिस वालों से सीधे भिड़ने की हिम्मत न रखने वाले अपराधियो ने इस से पहले भी औरतों को बनाया है अपने आपरध को छिपाने का ढाल लेकिन सराहना के पात्र हैं हमारी पुलिस व सेना के जांबाज़ जो इन विषम हालात में भी सामना कर रहे ऐसे गद्दारों व उनके समर्थकों का .. नया मामला आया है उत्तर प्रदेश के पूर्व फैज़ाबाद व वर्तमान अयोध्या जिले में जहाँ गौ वंश को काटने पर आमादा उन्मादियों ने पुलिस का छापा पड़ते ही औरतों को आगे कर दिया व खुद दुम दबा कर भाग खड़े हुए …

लेकिन पुलिस ने भी धैर्य के साथ कानून का पूरा पालन किया और तीन महिला कसाई गिरफ्तार कर के गौ कटान पर पूरी रोक लगाई ..मामला है अयोध्या जिले के थाना रौनाही का जहां के बड़ागाँव स्तिथ कसाई टोला में गोकसी की सूचना पर इंस्पेक्टर रौनाही मनोज कुमार सिंह के नेतृत्व में पुलिस ने मारा छापा। कसाइयों ने पुलिस को चकमा देने के लिए घर अंदर से बंद कर महिलाओं को भिड़ने के लिए कर दिया आगे फिर भी पुलिस मजबूती से तैनात रही तथा आपस मे विवाद कर पुलिस का काम रोकने से नाराज एस ओ रौनाही मनोज कुमार सिंह व सत्तीचौरा चौकी इंचार्ज राम नरेश वर्मा ने महिला पुलिस बुला कर 3 महिलाओं , राजिया खातून अफसर जहाँ व सबीहा को शान्ति भंग करने के जुर्म में गिरफ्तार कर जेल भेज दिया। तथा सभी पुरुष कसाई भागने में सफल रहे।

पुलिस का कहना है कि भागे कसाईयो को भी जल्द से जल्द दबोच लिया जाएगा व कानून का पूरा पालन क्षेत्र में किया जाएगा . पुलिस के इस कार्य की स्थानीय जनता में भी काफी सराहना की जा रही है ..लेकिन ये घटना उन तमाम विपरीत हालातो को रेखांकित करती है जिन विषम हालात में हमारे जवान व पुलिसकर्मी समाज की रक्षा करते हैं ।

Share This Post