उत्तर प्रदेश के चंदौली मे आग का भयानक तांडव.. महुजी गाँव मे कई बेघर. बेहद निराशाजनक रहा फायर ब्रिगेड का बचाव कार्य

चंदौली / उत्तर प्रदेश- 

ये वो समय है जब उत्तर प्रदेश ही नही बल्कि पूरे भारत के चुनावों मे किसान आदि के मुद्दे किसी भी सरकार को बनाने या गिराने की कूबत रखते हैं . ये वो समय है जब सभी पार्टियाँ और नेता खुद को जमीन से जुड़ा हुआ बताने के चक्कर मे किसानों के दरवाजे पर हर दिन दस्तक दे रहे हैं .. लेकिन ठीक उसी समय उत्तर प्रदेश मे कुछ ऐसे भी अधिकारी हैं जो इन तमाम चीज़ों से कोई वास्ता नही रखते हैं और अपनी धुन मे मस्त हैं . इसका जीवंत उदाहरण उस समय देखने जब उत्तर प्रदेश के बिहार सीमा से लगने वाले चंदौली जिले के गाँव महुजी मे भायनक आग लगी और चंदौली जिले की फ़ायर ब्रिगेड आराम से लगभग २ घंटे ३० मिनट बाद पहुची..

ज्ञात हो की चंदौली जिला भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष डाक्टर महेंद्र नाथ पांडेय के साथ साथ राजनाथ सिंह का भी गृह जनपद है । लेकिन यहाँ पर लापरवाही की हद उस समय देखने को मिली जब ब्लाक धानापुर, थाना धीना क्षेत्र में आने वाले गाँव महुजी में दोपहर को लगभग १ बजे के आस पास आग लग गई ।। गर्मी के साथ हवा को पा कर आग फैलती चली गयी , गामीणो ने अपने स्तर से अपने सामर्थ्य से आग बुझाने की हर संभव कोशिश की और लगातार चंदौली जनपद की फायर बिर्गेड को फोन मिलाते रहे।। लेकिन उनको शायद किसानो और गरीबों के धू धू जलते आशियाने की चिंता नहीं थी और वो आराम से २ घंटे ३० मिनट बाद आये ।।

उस समय तक जनपद के तमाम संभ्रांत नागरिक , पत्रकार आदि उस जलते गाँव में पहुंच चुके थे लेकिन अगर कोई नहीं दिखाई दे रहा था तो वो थी फायर ब्रिगेड जो की सबसे पहले पहुचनी चाहिए थी ।। लेकिन यहाँ पर प्रसंशा करनी होगी स्थानीय धीना पुलिस की जो क्षेत्राधिकारी प्रदीप सिंह चंदेल के नेतृत्व में महज कुछ मिनटों में ही पहुंची और अपनी तरफ से हर वो कोशिश की जो वो कर सकते थे ।। इसका सबसे सार्थक अंजाम ये रहा की आग के इस तांडव और फायर ब्रिगेड विभाग की इस लापरवाही के बाद भी चंदौली पुलिस की सतर्कता के चलते किसी मानवीय जनहानि नहीं हो पाई ।।

इस पूरे प्रकरण पर पुलिस अधीक्षक चंदौली संतोष कुमार सिंह ने लगातार सतर्क नजर रखी और अपने अधीनस्थों को लगातार आवश्यक निर्देश देते रहे जिसके चलते जनहानि नहीं हो पाई ।सबसे ख़ास भावनात्मक पल उस समय देखने को मिला जब जिलाधिकारी चंदौली नवनीत सिंह चहल पीड़ितों के बीच उनके गांव में पहुंचे और उन्होंने अग्निकांड पीड़ितों को अपना व्यक्तिगत नंबर देते हुए किसी भी प्रकार की सहायता के लिए कभी भी सम्पर्क करने को कहा और अधिकारियो को इस अग्निकांड से पीड़ित प्रत्येक व्यक्ति को यथासंभव मदद करने का निर्देश दिया ।। जिलाधिकारी के इस आश्वासन के बाद वहां की जनता ने राहत महसूस की .

फिलहाल ये अग्निकांड जहाँ पर जिले की पुलिस और जिला प्रशासन की सतर्क छवि को आम जनता के बीच में पेश कर गया तो वही जनपद चंदौली के फायर ब्रिगेड की वो हकीकत रूपी पोल खोल गया जो अप्रत्याशित था हर किसी के लिए , निश्चित रूप से अगर चंदौली पुलिस और जिला प्रशासन ने मौके पर मोर्चा न संभाला होता तो २ घंटे ३० मिनट बाद पहुंचने वाले फायर ब्रिगेड विभाग ने चंदौली की जनता को आक्रोशित करने की भूमिका बना ही दी थी ।।।

 

 

see video –

 

 

 

रिपोर्ट –

प्रशांत सिंह
वेब जर्नलिस्ट – जनपद चंदौली
मोबाइल – 9264915248

 

Share This Post