Breaking News:

उनके लिए तो वो एक धंधा था, लेकिन उससे तबाह हो रहे थे कई परिवार.. इज्जत की नीलामी का एक काला काम

उत्तर प्रदेश के मेरठ से एक ऐसे गिरोह का भांडाफोड़ हुआ है, जिसने गैंगरेप का धंधा खोल रखा था. उनके लिए तो वो एक धंधा था लेकिन उनके इस शर्मशार करने वाले धंधे से कई परिवार तबाह हो रहे थे. इस गिरोह का सरगना था नजाकत जो खुद को तांत्रिक बताता था, जिसके साथ महिलायें काम करती थी. ये महिलायें पहले लोगों के खिलाफ गैंगरेप के झूठे मुकदमे दर्ज कराती थी फिर समझौते के नाम पर उनसे मोटा माल वसूलती थी. लेकिन आखिरकार मेरठ पुलिस ने झूठे गैंगरेप के इस नापाक धंधे का भंडाफोड़ कर ही दिया.

खबर के मुताबिक़, एक लाख के इनामी तांत्रिक नजाकत उर्फ पप्पू संग मिलकर प्रदेश के कई जिलों में वादी-पैरोकारों पर गैंगरेप के मुकदमे दर्ज कराने वाली महिला को मेरठ एसएसपी ने शनिवार को अपने कार्यालय से गिरफ्तार करा दिया. वह गैंगरेप के एक मामले में नामजद आरोपियों द्वारा धमकाने की शिकायत लेकर पहुंची थी. एसएसपी ने महिला की साथी को भी गिरफ्तार कराया. मौका पाकर उनके साथ आया एक बुजुर्ग भाग निकला. ब्रह्मपुरी थाने में दोनों महिलाओं के खिलाफ धोखाधड़ी का मुकदमा दर्ज किया गया है.

बताया गया है कि मेरठ के ब्रह्मपुरी थाना क्षेत्र के रसीदनगर निवासी महिला ने 12 मार्च को प्रतापगढ़ की शहर कोतवाली में पति सहित पांच लोगों के खिलाफ गैंगरेप का मुकदमा दर्ज कराया था. आरोप था कि दंपति के बीच चल रहे विवाद में समझौते के लिए वह इलाहाबाद हाईकोर्ट जा रही थी. रास्ते में पति और अन्य लोगों ने उसके साथ रेप किया. इसी तरह इस महिला ने प्रयागराज और गाजियाबाद में भी गैंगरेप का मुकदमा दर्ज कराया. मेरठ के दो थानों में भी गैंगरेप के दो मामले दर्ज कराए गए. सभी मामलों में पुलिस एफआर लगा चुकी है.

शनिवार को यह महिला एक अन्य महिला और बुजुर्ग के साथ एसएसपी दफ्तर पहुंची. एसएसपी को बताया कि प्रतापगढ़ में हुए गैंगरेप के आरोपी उसे केस वापसी के लिए धमका रहे हैं. धमकाने वाली घटना 22 अगस्त को भूमिया का पुल की बताई गई. एसएसपी अजय साहनी ने जानकारी ली तो पता चला कि यह महिला गैंगरेप के झूठे मुकदमे दर्ज कराती रहती है. एसएसपी ने ब्रह्मपुरी पुलिस को बुलाकर दोनों महिलाओं को गिरफ्तार करा दिया, जबकि उनके साथ आया बुजुर्ग मौका पाकर वहां से भाग निकला. इंस्पेक्टर रघुराज सिंह ने बताया कि दोनों महिलाओं के खिलाफ 420 और 120बी में मुकदमा दर्ज किया गया है.

Share This Post