Breaking News:

पूर्वोत्तर भारत के एक गोगोई का एलान.. “अगर बिल पास हुआ तो छोड़ देंगे भारत”.. बिल है हिन्दुओं तथा हिंदुस्तान के हित में

नागरिकता संशोधन विधेयक को लेकर मचे राजनैतिक घमासान के बीच असम के एक गोगोई ने एलान कर दिया है कि अगर ये विधेयक पास हुआ वह हिंदुस्तान से अलग हो जायेंगे.  कृषक मुक्ति संग्राम समिति के नेता अखिल गोगोई ने रविवार को कहा कि अगर असम के लोगों को उचित सम्मान नहीं किया जाता है तो ‘‘हमें सरकार को यह कहने का साहस दिखाना चाहिए कि हम भारत में नहीं रहने पर विचार कर सकते हैं.’’

नागरिकता संशोधन विधेयक के विरोध में असम के तिनसुकिया जिले के पानीटोला में एक रैली को संबोधित करते हुए गोगोई ने कहा, ‘‘अगर सरकार हमें सम्मान देती है तो हम देश के साथ हैं लेकिन अगर असम के स्थानीय लोगों की भावनाओं की उपेक्षा की जाती है और विधेयक को पारित किया जाता है तो असम के हर नागरिक को साहस के साथ कहना चाहिए कि वे भारत का हिस्सा नहीं रहेंगे.’’ बता दें  कि प्रस्तावित विधेयक में बांग्लादेश, पाकिस्तान और अफगानिस्तान के गैर मुस्लिमों को भारतीय नागरिकता देने का प्रस्ताव है.

नागरिकता संशोधन विधेयक को लेकर भारतीय नाजता पार्टी के कद्दावर नेता तथा असम के वित्त मंत्री हिमंत बिस्वा शर्मा ने कहा है कि ये विधेयक न सिर्फ असम बल्कि हिंदुस्तान की एकता के लिए अंत्यंत आवश्यक है. हिमंत बिस्वा शर्मा ने कहा है कि अगर ये विधेयक पास नहीं हुआ तो असम न सिर्फ दूसरा कश्मीर बन जाएगा बल्कि बल्कि असम के 17 जिले जिन्ना के रास्ते पर चला पड़ेंगे. संपूर्ण विपक्ष तथा तथाकथित सेक्यूलर बुद्धिजीवी इस बिल का विरोध कर रहे हैं तथा बंगलादेश, पाकिस्तान तथा अफगानिस्तान से आये हिन्दुओं को भारतीय नागरिकता दिए जाने के खिलाफ हैं वहीं भारतीय जनता पार्टी इस बिल को पास कराने को लेकर पूरी तरह प्रतिबद्ध नजर आ रही है.

Share This Post