जो पार्टी सोनभद्र पर मचा रही थी सबसे ज्यादा शोर, हत्यारा निकला उसी का कार्यकर्ता

उत्तर प्रदेश के सोनभद्र में 2 पक्षों के जमीनी विवाद में एक ही पक्ष के 10 लोगों की ह्त्या के बाद राजनैतिक विवाद गहराता जा रहा है. इस बीभत्स घटना के बाद राज्य की योगी सरकार विपक्ष के निशाने पर आ गई तथा सपा, बसपा सहित कांग्रेस ने योगी सरकार पर जमकर निशाना साधा. कांग्रेस महांसचिव प्रियंका वाड्रा ने तो सोनभद्र जाने को लेकर धरना भी दिया तो वहीं समाजवादी पार्टी ने भी इसे लेकर काफी शोर मचाया.

सैलून चलाने वाले इखलाख खान ने बड़े शान से फेसबुक पर खुद को लिखा “जैश-ए-मोहम्मद” का सदस्य.. जबकि उसे इलाके के हिन्दू मानते थे सेक्यूलर

लेकिन अब इस मामले में बड़ी खबर सामने आई है. खबर के मुताबिक़, राज्य के मुख्यमंत्री ने विधान परिषद् में बड़ा बयान देते हुए कहा है कि सोनभद्र कांड का मुख्य हत्यारा सपा की ही कार्यकर्ता है. सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा कि जहां तक सोनभद्र में 10 लोगों की नृशंस हत्या का मामला है तो मुझे यह बताते हुए बहुत दुख हो रहा है कि उसमें जो सूत्र सामने आए हैं वे सिर्फ आज से नहीं बल्कि वर्ष 1955 से जुड़े हैं. उस वक्त कांग्रेस के एक नेता ने वहां के वनवासियों और जनजातीय समुदाय की जमीन को गलत तरीके से एक पब्लिक ट्रस्ट के नाम पर दर्ज कराया/ बाद में वर्ष 1989 में उस जमीन को अपने परिवार के सदस्यों के नाम कराया.

केजरीवाल के सरकारी वकील को जिम्मा था कन्हैया कुमार के खिलाफ कोर्ट में मजबूती से लड़ने का लेकिन आखिर वो केजरीवाल सरकार के वकील थे

योगी आदित्यनाथ ने आगे कहा कि बाद में उस जमीन को खरीदने वाला गांव का प्रधान यज्ञदत्त भोटिया खुद सपा का सदस्य है. उन्होंने कहा कि वहां का हत्यारा समाजवादी पार्टी से जुड़ा हुआ है. हम उसके खिलाफ सख्त कार्रवाई करेंगे. विपक्षी सदस्यों ने इस पर टोकाटाकी की तो सीएम ने कहा, अगर आप सच बोल नहीं सकते तो कम से कम सच सुनने की आदत तो डालना चाहिए. सीएम योगी ने कहा कि र-बार कह रहा हूं कि सोनभद्र कांड का हत्यारा प्रधान सपा से जुड़ा है तथा हम उसके खिलाफ सख्त कार्यवाई करेंगे.

राष्ट्रवादी पत्रकारिता को समर्थन देने के लिए हमें सहयोग करेंनीचे लिंक पर जाऐं

Share This Post