Breaking News:

पाटीदारों को भाजपा के खिलाफ भड़काने के प्रयास हुए ध्वस्त.. एक और करवट ली गुजरात की राजनीति ने

गुजरात में आरक्षण के नाम पर पाटीदारों को बीजेपी के खिलाफ भड़काने के प्रयास एक बार पुनः ध्वस्त होते हुए नजर आ रहे हैं. हार्दिक पटेल को आगे कर कांग्रेस पार्टी ने जिन उम्मीदों के साथ पाटीदारों को बीजेपी के खिलाफ भड़काया था तथा राज्य की सत्ता में आने के जो सपने देखे थे वो तो विधानसभा चुनावों में ही ध्वस्त हो गये थे लेकिन राज्य में बीजेपी की ताकत कमजोर हुई थी तथा कांग्रेस की सीटों में जबरदस्त बढ़ोत्तरी देखी गई थी क्योंकि तब पाटीदारों का एक हिस्सा कांग्रेस के साथ जुड़ गया था.

लेकिन अब पाटीदार एक बार फिर से कांग्रेस छोड़ बीजेपी के साथ आते हु दिखाई दे रहे हैं. खबर के मुताबिक़, गुजरात के मेहसाना नगरपालिका में अब भारी उथल-पुथल होने वाली है. मेहसाणा नगरपालिका के प्रमुख सहित 7 लोग आज कांग्रेस छोड़ के भाजपा में शामिल हो गए. मेहसाना नगरपालिका में कांग्रेस का शासन है. लेकिन अब कांग्रेस के हाथ में से मेहसाणा नगरपालिका भी छिन जाएगी. डिप्टी सीएम और उत्तर गुजरात के दिग्गज नेता नितिन पटेल के हाथों मेहसाणा नगरपालिका के कांग्रेस के सदस्यों ने कमर का केस पहना तथा बीजेपी में शामिल हो गये.

बता दें कि मेहसाणा नगर पालिका में जब चुनाव हुए तब पाटीदार आंदोलन जोरों पर था और उसके ही परिणाम मेहसाणा में 29 सीटों पर कॉन्ग्रेस और 15 सीटों पर भाजपा के सदस्यों की जीत हुई थी. मेहसाणा पाटीदार आन्दोलन का एक बड़ा केंद्र था. लेकिन अब जब पूरे देश में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का जादू चल रहा है तो प्रधानमंत्री के ही विस्तार तथा पाटीदार आरक्षण आदोलन के केंद्र रहे मेहसाणा में भी नगर पालिका के सदस्यों ने भाजपा के साथ जुड़ने का फैसला किया  है, जिससे कांग्रेस को बड़ा झटका  लगा है.

डिप्टी सीएम नितिन पटेल का दावा है कि मेहसाणा और गुजरात की विकास को ध्यान में रखकर कांग्रेस के सदस्यों ने भाजपा का रुख किया है. आने वाले दिनों में कुछ और कांग्रेसी सदस्य भी मेहसाणा से भाजपा में जुड़ेंगे. डिप्टी सीएम का यह दावा दर्शाता है कि मेहसाना नगरपालिका में अब भाजपा का राज होगा. भाजपा के सांसद शारदा बेन पटेल ने भी दावा किया कर आने वाले दिनों में न सिर्फ मेहसाणा बल्कि और भी नगरपालिका की कांग्रेस के सदस्य भाजपा में और जुड़ेंगे.

Share This Post