योगीराज को सीधी चुनौती दे गये सपाई गुंडे… थाने में घुस दरोगा पर किया भीषण हमला, लगाई आग

उत्तर प्रदेश में सपा सरकार में जिस तरह से समाज के दुश्मन गुंडे दहशत का राज कायम रखते थे, योगी सरकार आने के बाद ये सब बंद हो गया. योगी की पुलिस ने चुन-चुनकर अपराधियों का खात्मा करना शुरू कर दिया. स्थिति ये हो गई कि योगी की यूपी पुलिस का नाम सुनकर ही अपराधी कांपने लगे. लेकिन एक कहावत सुनी होगी  ”रस्सी जल गई पर बल नहीं गया”. इसी कहावत को चरितार्थ करते दिखे सपा नेता. सत्ता चली गई, लेकिन रौब डालने की आदत नहीं गई. जुआ खेलने से मना करने पर सपा नेताओं ने दरोगा को चौकी में घुसकर पीटा तथा चौकी में आग लगा दी.

मामला उत्तर प्रदेश के मऊ जिले का है. खबर के मुताबिक़, दीपावली की रात मधुबन थाना क्षेत्र के दुबरी पुलिस चौकी पर तैनात दारोगा राजन मौर्या को सूचना मिली कि क्षेत्र में जोर शोर से जुआ चल रहा है. जुआ खेलने की जानकारी मिलते ही चौकी इंचार्ज रेड मारने के लिए तत्काल पहुंचे तो जुआ खेल रहे सभी जुआरी फरार हो गए, लेकिन इस धरपकड़ में पुलिस को एक बाइक मिल गई. इसी दौरान चौकी इंचार्ज को बाइक छोड़ने के लिए ओमप्रकाश गोंड उर्फ लीडर निवासी परसियाजयराम गिरी का फोन आया और धमकी देते हुए बाइक को छोड़ने के लिए कहा. जिसके बाद सपा के पूर्व प्रत्याशी व मुलायम सिंह यादव के करीबी राजेंद्र मिश्रा द्वारा भी फोन किया गया. साथ ही समाजवादी सेकुलर मोर्चा के जिलाध्यक्ष विजयशकर यादव का फोन आया. इन सबके बावजूद चौकी इंचार्ज ने बाइक नहीं छोड़ा.

बताया गया है कि इसके बाद बाद  9 नवम्बर को सपा के नेता,ओम प्रकाश गोड़ उर्फ लीडर, हरेंद्र यादव, अखिलेश सिंह उर्फ कल्लू, बबलू सिंह, दुर्गेश यादव, नेता और कार्यकर्ताओं ने पुलिस चौकी में घुसकर तोड़फोड़ की और पुलिस की रिहायशी बैरक में तेल डाल कर आग लगा दी. दारोगा की तहरीर पर पुलिस ने 5 ज्ञात और 5 अज्ञात के विरुद्ध मुकदमा दर्ज किया है.

Share This Post