Breaking News:

गठबंधन के दुष्परिणाम शुरू.. समाजवादी पार्टी से बागी हुआ विधायक और सीधा निशाना अखिलेश पर

बहुजन समाज पार्टी के साथ गठबन्धन के बाद समाजवादी पार्टी में आंतरिक कलह शुरू हो गई है. उत्तर प्रदेश के फिरोजाबाद की सिरसागंज विधानसभा सीट से सपा विधायक तथा मुलायम सिंह यादव के रिश्तेदार हरिओम यादव ने सपा प्रमुख अखिलेश यादव पर सीधा हमला बोलते हुए कहा है कि अखिलेश ने मायावती के आगे समर्पण कर दिया है तथा एकतरह से मायावती को पीएम मान लिया है. इसके साथ ही हरिओम यादव ने सपा मसचिव रामगोपाल यादव को भी निशाने पर लिया तथा उन पर पार्टी नेताओं व कार्यकर्ताओं के अपमान का आरोप लगाया.

सपा के बागी विधायक हरिओम यादव् ने मंगलवार सपा के वर्तमान शीर्ष नेतृत्व के खिलाफ पोल खोल सम्मलेन का आयोजन किया. पोल खोल सम्मेलन को संबोधित करते हुए हरिओम यादव ने कहा कि असली समाजवादी तो नेताजी मुलायम सिंह यादव हैं. हरिओम यादव ने कहा कि बसपा से गठबंधन कर अखिलेश यादव ने समाजवाद को समाप्त कर दिया है. उन्होंने कहा कि हर समाजवादी चाहता है कि नेताजी मुलायम सिंह यादव मुख्यमंत्री बनें लेकिन अखिलेश यादव ने तो मायावती को मुख्यमंत्री मान लिया है.

शिकोहाबाद के रामलीला मैदान में आयोजित सपा विधायक के पोल खोल सम्मेलन में हजारों की भीड़ मौजूद थी. मंच पर सपा से नाराज नेताओं का जमावड़ा था। शिवपाल यादव की पार्टी प्रसपा के नेता भी मंच पर थे. मंच से विधायक ने कहा कि सपा सरकार में जिले में आई योजनाओं में जमकर कमीशनखोरी हुई है. सांसद कुछ जानते नहीं हैं, पांच साल में मात्र एक बार संसद में एक सवाल किया. रामगोपाल यादव तथा अक्षय यादव पर निशाना साधते हुए हरिओम यादव ने कहा कि पिता-पुत्र ने मिलकर फिरोजाबाद की जनता का अपमान किया है.

उन्होंने सवाल किया कि टूटे स्कूटर से चलने वाले प्रोफेसर बताएं कि इतनी जल्दी कैसे अरबपति हो गए. 2019 के लोकसभा चुनाव में जनता अपमान का बदला लेगी. सपा की सरकार में उनके और छोटू के ऊपर फर्जी मुकदमे दर्ज थे. सपा विधायक ने कहा कि फिरोजाबाद की माटी का सम्मान हम पूरे प्रदेश में बढ़ाएंगे. विधायक ने रजौराकांड का हवाला देते हुए कहा कि 15 हजार के इनामी अपराधी के प्रोफेसर ने आलू खुदवाए थे. कर्खे के यादवों के साथ धोखा किया है. हरिओम यादव ने खुद को जेल जाने को प्रोफेसर की देन बताया. उन्होंने कहा कि नेताजी को समाजवादी प्रधानमंत्री देखना चाहते हैं, लेकिन अखिलेश ने बसपा नेता को प्रधानमंत्री मान लिया है. यह जनता के साथ धोखा है.

Share This Post