Breaking News:

गांधी की जय बोलकर वोट लेने वालों ने उसका क्या किया जिसने वोट नहीं दिया था मुलायम को

वो बात करते हैं गांधीवाद की, लोहियावाद की.. पूरा लोकसभा चुनाव ही उन्होंने गांधी के सिद्धांतों को बचाने के कथित स्वघोषित नारों के साथ लड़ा था. सत्तारूढ़ बीजेपी तथा पीएम मोदी को हराने के ख्वाबों ने साथ उन्होंने दलितों की कथित हितैषी मायावती के साथ गठबन्धन किया लेकिन जनता ने उनको नकार दिया. इसके बाद गांधी की जय बोलकर वोट मांगने वालों का वो उन्मादी चेहरा सामने आया जिसे देख गांधी भी शर्मिंदा हुए होंगे.

मामला उत्तर प्रदेश के मैनपुरी का है जहाँ से समाजवादी पार्टी के प्रत्याशी मुलायम सिंह यादव को वोट न देने वालों(दलित) पर उन्मादी सपाईयों ने हमला कर दिया. चूँकि इस चुनाव में सपा ने उस बसपा से गठबंधन किया था जो खुद को दलितों का स्वयंभू ठेकेदार बताती है. खुद मायावती मुलायम के लिए मैनपुरी में रैली करने गईं थी तथा अपने वोटरों से अपील की थी कि वह सपा संरक्षक मुलायम के लिए वोट करें. लेकिन जिन दलितों ने सपा को वोट नहीं किया अब सपाई उनको निशाना बना रहे हैं.

खबर के मुताबिक़, मैनपुरी लोकसभा क्षेत्र से सपा-बसपा गठबंधन प्रत्याशी मुलायम सिंह यादव को वोट नहीं देने पर नगला मांधाता के यादवों ने उनवा गांव के अनुसूचित जाति के लोगों पर हमला बोल दिया. लाठी-डंडों से मारपीट के साथ ही हवाई फायरिंग भी की. इसमें महिलाओं समेत चार लोग लहूलुहान हो गए. बीएसएफ जवान ने भाग कर खुद को बचाया. बीएसएफ जवान की तहरीर पर पुलिस मामले की जांच कर रही है.

बताया गया है कि ग्राम पंचायत उनवा संतोषपुर के मजरा उनवा निवासी प्रेमसिंह (58) पुत्र रामदास पिछले सोमवार को जानवर चराने खेतों पर गए थे. सोमवार की शाम करीब चार बजे प्यास लगने पर प्रेमसिंह अपने परिवार के बालक सहित नगला मांधाता निवासी एक यादव के ट्यूबवेल पर पानी पीने चले गए. आरोप है कि ट्यूबवेल मालिक ने कहा कि लोकसभा चुनाव में गठबंधन प्रत्याशी मुलायम सिंह यादव को वोट नहीं दिया और पानी हमारे ट्यूबवेल पर पी रहे हो. ट्यूबवेल मालिक ने प्रेमसिंह व बालक के साथ मारपीट कर दी. प्रेमसिंह ने इसकी शिकायत थाने पर की, लेकिन पुलिस ने गंभीरता से नहीं लिया.

बताया गया है कि इसके बाद प्रेमसिंह का भतीजा बीएसएफ जवान रिंकू उर्फ फौजी पुत्र रामनरेश मंगलवार की सुबह करीब 8 बजे ट्यूबवेल के पास खेत में भूसा उठाने गया. आरोप है कि सपा समर्थक यादव बिरादरी के लोगों ने उसपर भी हमला बोल दिया. शोर सुनकर रिंकू के घर के लोग पहुंचे तो हमलावरों ने उनको भी लाठी-डंडों से पीटा. दहशत फैलाने के लिए हवाई फायरिंग भी की गई. पीड़ित पक्ष ने यूपी डायल 100 पर सूचना दे दी। यूपी-100 व चौबिया थाना पुलिस ने हमलावरों को करीब दो किलोमीटर तक दौड़ाया लेकिन वे हाथ नहीं आए.

मारपीट में प्रेमसिंह की पत्नी सीता देवी, गुलाब सिंह पुत्र लज्जाराम, उनकी पत्नी बीनू देवी, शशि पत्नी सुखबीर सिंह घायल हो गए. रिंकू गांव के करीब 20 लोगों के साथ थाने पहुंचे और नगला मांधाता के कुछ लोगों के खिलाफ नामजद तहरीर दी. रिंकू ने बताया कि मेरे गांव के बूथ पर गठबंधन प्रत्याशी मुलायम सिंह 250 मतों से हारे हैं. इसी कारण सपा के यादव लोगों ने मारपीट की है. थानाध्यक्ष चौबिया सतीश चंद्र यादव ने बताया कि मारपीट में कुछ लोग घायल हुए हैं. रिंकू और प्रेमसिंह की ओर से तहरीर मिली है, मामले की जांच कर कार्रवाई की जाएगी

राष्ट्रवादी पत्रकारिता को समर्थन देने हेतु हमे आर्थिक सहयोग करे. DONATE NOW पर क्लिक करे
DONATE NOW