दिल्ली महिला आयोग का सराहनीय कार्य.. राजस्थान पुलिस की मदद से ससुराल में प्रताड़ित होती युवती को बचाया… स्वाति मालीवाल जी की अहम् रही भूमिका

दिल्ली महिला आयोग का अध्यक्ष पद संभालने के बाद से ही महिला सशक्तिकरण के लिए बेहतरीन कार्य कर रही स्वाति मालीवाल ने एक बार फिर से ऐसा कार्य किया है, जिससे उनकी जितनी तारीफ़ की जाए कम ही होगी. आपको बता दें कि दिल्ली महिला आयोग ने एक 22 वर्षीय युवती को उसके ससुराल से रेस्क्यू करवाया है, जहाँ युवती को अंतहीन प्रताड़ना दी जा रही थी.  दिल्ली महिला आयोग की अध्यक्ष स्वाति मालीवाल को जैसे ही इसकी सूचना मिली उन्होंने तुरंत एक्शन लिया और अब वह युवती सुरक्षित है. दिल्ली महिला आयोग ने यह रेस्क्यू राजस्थान पुलिस की मदद से करवाया. दरअसल दिल्ली महिला आयोग को युवती की एक दोस्त ने संपर्क किया और मदद की गुहार लगायी. आयोग ने उस लड़की से फ़ोन पर बात की. युवती ने बताया कि उसका मायका दिल्ली में है और उसी शादी राजस्थान के झुंझुनू जिले में एक गाँव में हुई है.

युवती ने बताया कि ससुराल में उसका बहुत शोषण होता है और उसको जान का खतरा है. उसने कहा कि वह अपने ससुराल में नहीं रहना चाहती. दिल्ली महिला आयोग ने तुरंत राजस्थान पुलिस से संपर्क किया और मामले से अबगत कराया.  आयोग ने लड़की को बचाने में राजस्थान पुलिस की मदद मांगी. राजस्थान पुलिस ने एक टीम बनायी और लड़की के ससुराल से उसे रेस्क्यू करवाया. राजस्थान पुलिस की एक टीम युवती को दिल्ली महिला आयोग लेकर आई. आयोग में आकर लड़की ने बताया कि उसके पिता ने उसकी शादी उसकी इच्छा के विरुद्द 12 साल की उम्र में ही कर दी थी. लड़की ने बताया कि उसका पति और उसके ससुराल वाले उसका मानसिक और शारीरिक शोषण करते थे. उसने बताया कि उसके पति ने उसका शारीरिक, मानसिक और यौन शोषण किया, यहाँ तक कि उसकी पिटाई बेल्ट से करता था.  उसके ससुराल वाले भी उसके साथ मारपीट करते थे. युवती ने बताया कि उसके मायके वालों ने भी उसकी बात नहीं सुनी और उसको कई बार जबर्दस्ती उसके ससुराल भेजा. लड़की ने कहा कि वह अपने मायके वालों, ससुराल वालों और पति के खिलाफ कार्यवाही चाहती है. इस मामले में राजस्थान के झुंझुनू जिले के खेतड़ी थाने में एक शिकायत दर्ज की गयी है. युवती को अभी दिल्ली में एक शेल्टर होम भेज दिया गया है. स्वाति मालीवाल ने कहा कि दिल्ली महिला आयोग लड़की को दिल्ली पुलिस से सुरक्षा दिलवाएगा और उसके पुनर्वास के लिए काम करेगा|

दिल्ली महिला आयोग की अध्यक्षा स्वाति मालीवाल ने कहा, “आज 21वीं सदी के भारत में भी, खासकर राजस्थान में लड़कियों का बाल विवाह एक बड़ी समस्या है.  हमारे सामने दिल्ली में भी बाल विवाह के कई मामले सामने आते हैं. देश में बाल विवाह पर पूर्ण प्रतिवंध लगाने के लिए सम्बंधित कानूनों का कड़ाई से पालन करवाने और समाज में जागरूकता लाने की बहुत आवश्यकता है. मैं लोगों से अपील करना चाहती हूँ कि देश के अच्छे भविष्य के लिए बाल विवाह जैसी सामाजिक बुराई से बचें और अगर आपके आसपास कोई बाल विवाह की घटना होती है तो तुरंत दिल्ली महिला आयोग से 181 पर संपर्क करें.” गौरतलब है कि दिल्ली महिला आयोग की अध्यक्ष के रूप में स्वाति मालीवाल की छबि एक ऐसी महिला की है जो महिला सुरक्षा, स्वाभिमान के लिए पूरी तरह से समर्पित है तथा बिना किसी भय या राजनैतिक दवाब के महिलाओं के उत्थान के लिए, उन्हें न्याय दिलाने के लिए काम करती हैं.

Share This Post