Breaking News:

दिल्ली हाई कोर्ट का फैसला – जिम्मेदार एडमिन नहीं बल्कि लोग

सोशल मीडिया साइडो व्हाट्सएप ग्रुप, फेसबुक, इंस्टाग्राम, ट्वीटर, लीकडीन पर आपत्तिजनक पोस्ट करने के लिए एडमिन जिम्मेदार नहीं है। यह कहना है दिल्ली हाई कोर्ट का और नई दिल्ली में हाई कोर्ट ने ऑनलाइन चैट ग्रुप पर आपत्तिजनक पोस्ट करने के विषय पर बड़ा फैसला सुनाया और स्पस्ट किया सोशल मीडिया साइतो पर आपत्तिजनक पोस्ट डालने में एडमिन को जिम्मेदार नहीं माना जायेगा।

यह पुरा विषय हाई कोर्ट में पेश मामले में एएन बिल्डवेल रियल एस्टेट कंपनी के पूर्व निदेशक आशीष भल्ला ने यह मानहानि याचिका दायर की थी कि गुरुगाम स्थित एक हाउसिंग प्रोजेक्ट में खरीदार को तय अवधि में मकान न मिलने पर कुछ खरीदारों ने एक व्हाट्सएप ग्रुप बनाया था।

आरोप था कि ग्रुप में प्रोजेक्ट के प्रबंधकों व निदेशकों के खिलाफ टिप्पणियां की गईं। उन्हे पोस्ट में जानवर कहकर सम्बोधित किया गया जिससे आघात होकर निदेशक दिल्ली के हाई कोर्ट में खरीदारों के खिलाप मानहानि की याचिका दायर की। जिसे कोर्ट ने यह कहकर ख़ारिज कर दिया की व्हाट्सएप पर किसी तरह के पोस्ट का जिम्मेदार एडमिन नहीं है। जब एडमिन से पोस्ट डालने की इजाजत नहीं लिया जाता तो वह पोस्ट के लिए कैसे जिम्मेदार हो सकता है। एडमिन सिर्फ ग्रुप बनाने की इजाजत देता है न की आपत्तिजनक पोस्ट करने की।

आगे कोर्ट ने कहा की मुझे समझ नहीं आता की कैसे कोई किसी ग्रुप के एडमिन पर उस ग्रुप में दूसरे सदस्यों की ओर से भेजी गई आपत्तिजनक सामग्री के लिए मानहानि का दावा किया जा सकता है।

ये आरोप उसी तरह है जैसे किसी किताब में छपे गलत सामग्री पर बेचने वाले दुकानदार पर मानहानि का दावा।
अदालत ने अपने सुनवाई में कहा कि एडमिन से अनुमति लेकर कोई सामग्री पोस्ट नहीं की जाती। ग्रुप में कुछ भी पोस्ट होने से पहले एडमिन से उसकी अनुमति लेने का कोई प्रावधान नहीं है। एडमिन मात्र सदस्यों को सलाह दे सकता है कि वे ग्रुप में कोई भी आपत्तिजनक सामाग्री न डालें।

याचिकर्ता ने कहा इस आपत्तिजनक पोस्ट से उनकी प्रतिष्ठा को ठेस पहुंची है, जबकि वह इस कंपनी को 2009 में ही छोड़ चुके हैं और ऐसे में खरीदारों की एसोसिएशन स्पायरवुड रेजिडेंट एसोसिएशन (एसडब्ल्यूआरए) व चार खरीदार जो इस एसोसिएशन के सदस्य हैं, उनसे पांच करोड़ रुपये मानहानि के रूप में मुआवजा दिलवाया जाए। जिसे कोर्ट ने पूरी तरह से ख़ारिज कर दिया।

Share This Post