Breaking News:

एक बार फिर लगे JNU में आज़ादी के नारे

देहली के जवाहर लाल नेहरू स्टेडियम में रविवार (११ फरवरी) रात एक बार फिर से स्वतंत्रता के नारे सुनाए दिए । जेएनयू कैंपस में रात भर सैकडों की संख्या में छात्र स्वतंत्रता के नारा लगाते रहे । जेएनयू के छात्र ७५ प्रतिशत उपस्थिति को अनिवार्य बनाने का विरोध कर रहे हैं । बता दें कि, दिसंबर २०१७ में जेएनयू प्रशासन ने एक सर्कुलर जारी कर कहा था कि, विश्वविद्यालय प्रशासन सभी कोर्स के लिए ७५ प्रतिशत उपस्थिति को अनिवार्य करने जा रहा है ।

जेएनयू के छात्र संगठनों ने प्रशासन के इस कदम को अनावश्यक बताया है । इस मुद्दे को लेकर पिछले एक महीने से आंदोलन चल रहा है । रविवार रात को बडी संख्या में छात्र-छात्राएं जेएनयू के प्रशासनिक भवन के सामने जुट गये । इस दौरान छात्र-छात्राओं के हाथों में मशालें भी थीं । इस समय यूनिवर्सिटी प्रशासन के विरोध में जमकर नारेबाजी की गई । छात्र, ‘हम लेके रहेंगे स्वतंत्रता, तुम कुछ भी कर लो, हम लेके रहेंगे स्वतंत्रता, हम छीन के लेंगे स्वतंत्रता, हम कह के लेंगे स्वतंत्रता,’ जैसे नारे लगाते रहे । इसके अलावा, ‘बायकॉट, बायकॉट जैसे नारे भी लगाये ।”

छात्रों के प्रदर्शन पर जेएनयू के रजिस्ट्रार प्रमोद कुमार ने ट्वीट कर कहा है कि कुछ छात्र लगभग महीने भर से प्रदर्शन कर रहे हैं, जबकि उपस्थिति के मुद्दे को सुलझाने के लिए JNUSU के नेता विश्वविद्यालय प्रशासन से लगातार बात कर रहे हैं । प्रमोद कुमार ने कहा कि कुछ छात्र अपने सहपाठियों को क्लासरूम बिल्डिंग जाने से रोक रहे हैं और स्कूल भवन का रास्ता बंद कर रहे हैं । उन्होंने कहा कि प्रदर्शनकारी छात्रों के इस कदम की वजह से बाकी छात्रों, बीमार बच्चों और यूनिवर्सिटी आए गेस्ट को गंभीर परेशानी हो रही है ।
विश्वविद्यालय प्रशासन ने कहा कि १० फरवरी की रात को प्रदर्शन के दौरान कुछ छात्रों ने विश्वविद्यालय प्रशासन में तोड़ फोड़ भी किया है, जो बेहद दुखद है । रजिस्ट्रार प्रमोद कुमार ने चेतावनी दी है कि अगर छात्रों का प्रदर्शन जारी रहा तो उनके खिलाफ प्रशासनिक कार्रवाई भी की जाएगी ।

Share This Post