Breaking News:

एक और गुलामी की निशानी मिटी और भगवामय हुआ इतिहास.. जानिए कहाँ?

हमारे देश में ऐसे कई स्मारक, मकबरे आदि मिल जाएंगे जो गुलामी की निशानी हैं, जो उन मुगल आक्रांताओं के नाम पर हैं जिन्होंने हिंदुस्तान पर आक्रमण किया, जिन्होंने हिंदुस्तान की सभ्यता को मिटाने का प्रयास किया, जिन्होंने हिंदुस्तान को संस्कृति को नेस्तानाबूद करने का प्रयास किया, जिन्होंने हिंदुस्तान की पहिचान भगवा को मिटाने का प्रयास किया, जिन्होंने अपनी जिहादी मजहबी मानसिकता के कारण अनगिनत हिंदुओं की हत्याएं की, महिलाओं के बलात्कार किये, उसके बावजूद आज भी  देश में न सिर्फ उनके नाम के स्मारक मौजूद हैं बल्कि उनके समर्थक भी हैं.

अब देश की राजधानी दिल्ली में ऐसा हुआ है जिसे जानकर हर राष्ट्रवादी मुस्कुरा उठेगा. देश की राजधानी दिल्ली में गुलामी के प्रतीक “तुगलक” के मकबरे को मिटा दिया गया है. जानकारी के मुताबिक मुगलकालीन ये मकबरा दिल्ली के दक्षिण दिल्ली क्षेत्र के सफदरजंग एनक्लेव के हुमायूंपुर गांव में स्थित था. इस मकबरे गुमटी के नाम से जाना जाता था. हिंदुस्तान के हर राष्ट्रवादी को गुलामी का एहसास कराता ये मकबरा, राष्ट्रवादियों को चिढ़ाता हुआ ये मकबरा अब मकबरा नहीं रह है. इस मकबरे को अब शिव मंदिर में तब्दील कर दिया गया है. बताया गया है कि इस मकबरे को भगवा तथा सफेद रंग से पेंट कर दिया गया है, तब इसके अंदर महादेव भगवान शिव की मूर्तियां रख दी गई हैं तथा मंदिर के बगल भगवा रंग में रंगी दो बेंच भी लगा दी गई हैं. हालांकि अभी तक ये पता नहीं चला है कि मकबरे को किसने मन्दिर में तब्दील कराया. लेकिन दिल्ली के हिन्दू सँगठनों का कहना है कि ये बहुत गौरवान्वित करने वाला कार्य है तथा देश के आक्रान्ताओं को महिमा मंडित करने की कोई आवश्यक्ता नहीं है.

Share This Post