Breaking News:

बुलंदशहर की घटना में किसी भी संगठन को बदनाम करते व्यक्ति की फ़ौरन शिकायत करें बुलंदशहर पुलिस को-.. ADG का बयान- “किसी संगठन का नाम लेना ठीक नहीं”

बुलंदशहर की घटना में अगर कोई भी किसी हिंदूवादी संगठन, गोरक्षा संगठन को बदनाम करता दिखाई दी तो इसकी शिकायत तुरंत बुलंदशहर पुलिस से करें क्योंकि यूपी के एडीजी लॉ एंड ऑर्डर आनंद कुमार ने बुलंदशहर में हुई हिंसा व बवाल पर बड़ा बयान देते हुए कहा है कि इस घटना में किसी संगठन का नाम सामने नहीं आया है. यूपी के एडीजी लॉ एंड ऑर्डर आनंद कुमार ने ने कहा कि बुलंदशहर में स्थिति अब नियंत्रण में है, इलाके में भारी संख्या में पीएसी व आरएएफ तैनात की गई है तथा इसमें किसी संगठन का नाम लेना ठीक नहीं है.

एडीजी लॉ एंड ऑर्डर आनंद कुमार ने मीडिया को बताया कि हिंसा में 27 लोगों को नामित किया गया है जबकि चार की गिरफ्तारी हुई है. उन्होंने बताया कि एसआईटी घटनास्थल पर पहुंच गई है और अपना काम कर रही है. ये खुफिया एजेंसी की असफलता है या किसी और की जांच रिपोर्ट आने पर ही पता चलेगा. चमन, रामबल, आशीष चौहान और सतीश को गिरफ्तार किया गया है. जबकि योगेश राज अभी भी पुलिस की पकड़ से बाहर है. उन्होंने कहा कि इस मामले में किसी संगठन का नाम सामने नहीं आया है. उन्होंने कहा कि जांच के बाद ही स्थिति साफ़ हो सकेगी. एडीजी लॉ एंड ऑर्डर आनंद कुमार ने कहा कि एसआईटी इस मामले की जांच कर रही है और वह घटना की तह तक जाएगी. निष्पक्ष जांच के लिए एसआईटी का गठन किया गया है

इसके साथ ही एडीजी ने कहा कि हिंसा में मारे गए इंस्पेक्टर सुबोध सिंह शहीद हुए हैं. उन्होंने कहा कि वह हमारे पुलिस परिवार के सदस्य थे. हम उनके परिवार की हरसंभव मदद करेंगे. एडीजी ने बताया कि मारे गए युवक सुमित का पोस्टमार्टम हो चुका है. उसके शरीर में गोली पाई गई. एडीजी ने लोगों से शांति बनाये रखने की अपील करते हुए कहा कि जांच पूरी होने के बाद ही हकीकत सामने आयेगी. जिस तरह से एडीजी ने कहा कि इसमें संगठन का नाम सामने नहीं आया है, ये उन लोगों को जवाब है जो कल से ही लगातार हिन्दू संगठनों को निशाने पर ले रहे हैं.

Share This Post