एसटीएफ को मिली एक बड़ी कामयाबी, प्रदेश के पेट्रोल पंप में हो रहे घोटालों का किया पर्दाफाश

लखनऊ: हमारी राजधानी मे पेट्रोल पंपो पर
घोटालेबाजी की हरकते रुकने का नाम ही नही ले रही है। आपको बता दें, कि एसटीएफ ने
सोमवार को भी 4 पंपो पर छापा मारा है। और अभी तक एसटीएफ
और अन्य विभागों ने भी कई पेट्रोल पंपो पर छापा मारा, जिनमे से लगभग 18 पेट्रोल पंप दागी निकले। बता दें, कि सोमवार को
भी छापेमारी के दौरान दो जगह पेट्रोल चोरी करने के लिए प्रयोग होने वाले चिप मिले।
और एक अन्य जगह पर भी गड़बड़ी मिली। जिसके बाद दोनो पेट्रोल पंपो को सील कर दिया
गया।

आपको बता दें, कि अभी तक  9 पेट्रोल पंपो को सील किया गया है। और इसी मामले
में पुलिस ने अभी तक 26 लोगों को गिरफ्तार किया है।  

एसटीएफ के एएसपी डॉ.अरविंद चतुर्वेदी के अनुसार, एसटीएफ और संबंधित विभाग की टीम ने 27 अप्रैल से एक मई के बीच शहर के 19 पंपों पर छापेमारी की हैं। इनमें सोमवार को की गई छापेमारी के दौरान
गोसाईगंज के मोहरी कला स्थित पेट्रोल पंप के मालिक अंजनी कुमार सिंह को गिरफ्तार
किया गया हैं,
जबकि इससे पूर्व शुक्रवार को चार
पेट्रोल पंप मालिकों को गिरफ्तार किया गया था। पूरे मामले में अब तक आरोपी
इलेक्ट्रीशियन राजेंद्र व पांच पंप मालिकों सहित कुल 26 आरोपियों को गिरफ्तार किया गया है। छापेमारी के दौरान 9 पंपों को सील कराया गया जबकि पांच पंपों के एक- एक व दो- दो
मशीनों को सील कराया गया हैं। जबकि पॉलीटेक्निक स्थित पेट्रोल पंप पर मशीन ही गायब
मिली थी। पूरे मामले में संबंधित थानों की पुलिस अन्य आरोपियों की तलाश कर रही
हैं। जबकि अब तक आरोपी पेट्रोल पंप एसोसिएशन के अध्यक्ष बीएन शुक्ला व उनके बेटे
गोपाल शुक्ला को अब तक गिरफ्तार नही किया जा सका।

छापेमारी के दौरान हुई गतिविधियां-

-बता दें,
कि बीते सोमवार को एक बार फिर से एसटीएफ के एसएसपी अमित पाठक के नेर्तत्व में
लोहिया पथ के जियामउ पर छापेमारी की गई।

– जहा पर कुछ
खास गड़बड़ी नही मिली वहां पर इंड़ियन ऑयल के अधिकारियों की जांच जारी है।

-आकाशवाणी
के समीप के ही पेट्रोल पंप पर हुई छापेमारी में दो रिमोट और चिप मिले है। ये
एसटीएफ ने सीज कर दिया है।

– हाल ही में हुई छापेमारी में ये पता चला है कि पंप पर
घोटालेबाजी होती थी।

 

एसटीएफ के मुताबिक, पंप की एक मशीन से
चिप निकाला जा चुका है। घटतौली व गड़बड़ी के मद्देनजर पेट्रोल पंप सीज कर दिया गया
है। छापेमारी के दौरान कंपनी के अधिकारियों ने बताया कि, मशीन में जो उपकरण मिला
है वह उनकी कंपनी का नहीं है.

इसके अलावा एसटीएफ की टीम ने
शाम को भी मोहनलालगंज गोसाईगंज रोड के मोहरी गांव के पास ही के पेटोल पेट्रोल पंप पर छापेमारी की जिसमे
तीन चिप बरामद हूए है और एक साथ हुई इस छापेमारी से दो नोजल मशीन पर घटतौली मिली
है इसी के साथ वहां के मैनेजर समेत 5 कर्मचारियों को भी
हिरासत  में ले लिया है।

– बीकेटी के जिस पेट्रोल पंप पर छापा मारा वह यूपी पेट्रोल
एसोसिएशन के प्रदेश अध्यक्ष बीएन शुक्ला का दूसरा पेट्रोल पंप था। इंडियन आयल
पेट्रोल पंप पर छापेमारी में मशीन में मिली घटतौली की चिप, रिमोट से संचालन किया जा रहा था। पेट्रोल पंप को सीज किया गया।
बख्शी का तालाब के छठा मील रोड पर है पेट्रोल पंप, बीएन शुक्ला के दो पेट्रोल पंप पहले ही हो सीज हो चुके हैं

.

-कुछ पेट्रोल पंप मेड़िकल कॉलेज और हसनगंज में पकडें गए थे, जिनमे रिमोट और चिप भी
बरामद हूई थी। यहां तक की पेट्रोल पंप मशीन के तार भी नोचे हुए
थे, और मशीन पार्टस भी गायब थे।

चौक के कोनेश्वर चौराहे के आगे पड़ने
वाले बाबा अय्यूब फहरुखी के पेट्रोल पर छापेमारी की गई। पंप का मैनेजर हरिकिशन
सारा काम देखता था। एसटीएफ ने मैनेजर को हिरासत में लेकर रिमोट के बारे में पूछा
तो छत पर ले जाकर हरिकिशन ने तीन रिमोट एसटीएफ को सौंपे। एसटीएफ ने मैनेजर समेत
सात को हिरासत में लिया है.

चौक के कोनेश्वर चौराहै के आगे पड़ने वाले पेट्रोल पंप पर भी
छापेमारी की गई।

आपको बता दें, कि ये अययूब फहरुखी का पेट्रोल पंप था। और पंप का
सारा काम वहां  का मैनेजर हरिकिशन देखता
था।  एसटीएफ ने हरिकिशन को हिरासत में लेकर
पूछताछ की ।जिसमे पाया गया कि, पंप में रिमोट छुपाए गए थे। जिनको हरिकिशन ने
एसटीएफ को सौप दिया। इसके बाद एसटीएफ ने मैनेजर और अन्य 7 लोगों को गिरफ्तार किया है।

एसटीएफ ने  आकाशवाणी और
कुछ अन्य जगह पेट्रोल पंप पर ही रिमोट को ऑन ऑफ करके पेट्रोल टंकियों से पेट्रोल
मापे, तो उनमे  5
लीटर में लगभग दो सौ मिली लीटर की
घौटालेबाजी पकड़ी गई।

जिस पर हरिकिशन ने बताया कि, यहां पर कई
सालों से ये डिवाइस लगी थी। और पुलिस ने राजेंद्र की मदद से कई चिप बरामद की, और
इसके बाद उन पंपो को सील कर दिया गया।

 

 

Share This Post