Breaking News:

कैराना से अब हिन्दू नहीं बल्कि उन्मादी और अपराधी पलायन कर रहे हैं- योगी आदित्यनाथ

जैसे जैसे लोकसभा चुनावों की तिथि नजदीक आती जा रही है, वैसे वैसे सियासी तापमान नई ऊंचाईयां छूता हुआ नजर आ रहा है. आम जनता से लेकर उच्च वर्ग तक चुनावी खुमार में डूबा हुआ है. सभी सियासी दल मतदाताओं को प्रभावित करने के प्रयास करने में लगे हुए हैं. चुनाव प्रचार की इसी कड़ी में उत्तर प्रदेश की कैराना लोकसभा सीट से भाजपा प्रत्याशी प्रदीप चौधरी के समर्थन में आयोजित जनसभा में सूबे के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जमकर गरजे.

CBI ने बताई लालू की वो चाल जो उन्होंने इस चुनाव में सोच रखी है

जनसभा को संबोधित करते हुए योगी आदित्यनाथ ने कहा कि 2017 के विधानसभा चुनाव से पहले यहां के लोग बेटियों को दूर स्कूल भेजने से डरते थे. कैराना-कांधला के व्यापारियों से रंगदारी मांगी जाती थी. डर से वे पलायन कर गए, लेकिन हमारी सरकार आई तो कैराना से गुंडों का पलायन शुरू हो गया और व्यापारियों की वापसी. गुंडा टैक्स वसूला जाता था. मंत्रियों तक जाता था. अब ये गुंडे या तो जेल में होंगे या राम नाम सत्य. उन्होंने कहा कि कैराना का हसन(तबस्सुम) परिवार इन सबकी जड़ रहा है.

राहुल गांधी के करीबी और सेना के शौर्य पर सवाल उठाने वाले कांग्रेसी ने अब भारतीयों को कहा “बंदर”

सपा-बसपा पर हमला करते हुए कहा कि बसपा ने अपने शासनकाल में थानों में जन्माष्टमी मनाने पर रोक लगाई. सपा ने कांवड़ यात्रा में डीजे बजवाना बंद करा दिया, लेकिन सड़कों पर नमाज पढ़ी गई. यदि रोक लगानी थी तो सब पर लगाते. कलकत्ता की एक चुनाव रैली में चांद सितारे वाले झंडे लहराए गए, क्या देश में रैलियों में तिरंगे की बजाय ऐसे झंडे लहराए जाएंगे. उनकी सरकार ने कांवड़ यात्रा पर डीजे पर लगी रोक हटवाई. मंदिरों में श्रीकृष्ण जन्माष्टमी मनी.

BJP का एलान- फिर सत्ता में आये तो ख़त्म होगा हलाला भी

सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा कि हमारी योजनाओं का आधार नौजवान, गरीब और किसान है. हमारी सरकार धर्म या जाति पूछकर सरकारी सुविधाएं नहीं देती. पक्के आवास, बिजली कनेक्शन, गैस कनेक्शन, प्रधानमंत्री निधि, आयुष्मान भारत योजना का लाभ सभी को मिला है. अनुसूचित जाति के लोगों के जबरन धर्म परिवर्तन कराने की बात कर उन्हें भी रिझाने की कोशिश की. सीएम ने गन्ना भुगतान, सड़के बनवाने, गन्ना रहने तक मिल चलने की बात भी कही. योगी ने मंच से हुकुम सिंह और उनके परिवार की भी प्रशंसा की। उन्होंने भाषण की शुरूआत ही हुकुम सिंह को नमन करके की.

CBI ने बताई लालू की वो चाल जो उन्होंने इस चुनाव में सोच रखी है

मुजफ्फरनगर दंगों का जिक्र करते हुए सीएम योगी ने कहा कि मुजफ्फरनगर दंगों में बेकसूर सचिन गौरव मारे गए. आजम खान और पूर्व सरकार ने थानों में हस्तक्षेप किया. यदि ये हस्तक्षेप नहीं होता तो शायद सचिन-गौरव मारे ही ना जाते और दंगे भी नहीं होते. कैराना पलायन का मुद्दा उठाते हुए कहा कि उनकी सरकार आने के बाद अब कैराना से बदमाश पलायन करने लगे हैं. उनकी सरकार ने वहां गुंडागर्दी खत्म की. आज वहां व्यापारी आराम से हैं. अब कांधला और कैराना के बीच पीएसी कैंप का निर्माण हो रहा है. इसके बाद यहां कोई बेटियों को छेड़ना तो दूर आंख उठाकर देखने की हिम्मत तक नहीं करेगा.

क्या अम्बेडकर चाहते थे दलितों और मुसलमानों में एकता ? योगी आदित्यनाथ ने किया बड़ा खुलासा

पुलवामा के बलिदानी जनपद के दोनों जवान प्रदीप और अमित को नमन करते हुए योगी ने कांग्रेस-सपा पर निशाना साधा तथा कहा कि पुलवामा हमले के बाद हमारे देश की सेना ने पाक में घुसकर सबक सिखाया लेकिन विपक्षी सेना को बधाई देने की बजाय इसका भी सबूत मांग रहे हैं. उन्हें तो सपा और कांग्रेस के डीएनए पर भी सवाल खड़ा होता है उन्होंने कहा कि कांग्रेस का हाथ तो देशद्रोहियों के साथ है जबकि हमारी सरकार तो आतंकवाद की भाषा बुलेट से ही समझाती है.

जिसका जवाब पसंद नहीं आता उसको ट्विटर पर ब्लॉक कर देती हैं महबूबा.. पहले कपिल मिश्रा और अब एक और

राष्ट्रवादी पत्रकारिता को समर्थन देने हेतु हमे आर्थिक सहयोग करे. DONATE NOW पर क्लिक करे
DONATE NOW