DCP होते हुए विक्रम को खुद से खुद को मार देने पर मजबूर कर गया SHO अब्दुल

वो हरियाणा की फरीदाबाद पुलिस में DCP थे . उन्होंने अपनी नौकरी की शुरुआत सब इंस्पेक्टर के तौर पर की थी इसलिए ऐसा भी कहा जा सकता है कि वो नौसिखिया नहीं बल्कि अनुभवी थे .. उसके बाद भी उन्होंने अब्दुल के ऊपर विश्वास किया था और बाद में अब्दुल ने उनके अधीनस्थ अधिकारी SHO होते हुए भी चल डाली ऐसी चाल कि उस से बाहर निकलने का उन्हें केवल एक ही रास्ता दिखा और वो रास्ता था मौत का . अब इस दुनिया में नहीं हैं DCP विक्रम कपूर ..

फरीदाबाद पुलिस प्रवक्ता सूबे सिंह ने कहा कि सुसाइड नोट में भूपानी थाना एसएचओ अब्दुल शाहिद और एक अन्य व्यक्ति द्वारा डीसीपी को किसी मुद्दे पर ब्लैकमेल किए जाने की बात लिखी है। पुलिस प्रवक्ता ने कहा कि हिरासत में लिए गए दोनों लोगों से पूछताछ जारी है।डीसीपी कपूर के घर से पुलिस को एक सुसाइड नोट मिला है. जिसका जिक्र पुलिस के पास उनके बेटे अर्जुन कपूर की तरफ से दर्ज एफआईआर में है. इसमें DCP ने  अपनी मौत का जिम्मेदार सीधे सीधे अब्दुल को बताते हुए लिखा है कि –

I am doing this due to ABDUL, Abdul insp he is blackmailing- Vikram. हिंदी में कहें तो ‘मैं ये अब्दुल की वजह से कर रहा हूं, अब्दुल इंस्पेक्टर ब्लैकमेलिंग कर रहा है- विक्रम’. इसी के बाद  हरियाणा पुलिस के डीसीपी विक्रमजीत सिंह कपूर आत्महत्या मामले में आरोपी थाना प्रभारी इंस्पेक्टर को गिरफ्तार कर लिया गया है. गिरफ्तार आरोपी इंस्पेक्टर का नाम अब्दुल शहीद है. गौरतलब है कि डीसीपी विक्रम कपूर बुधवार सुबह अपने घर के ड्राइंग रूम में सोफे पर बैठे थे। तभी उन्होंने सर्विस रिवॉल्वर अपने मुंह में डालकर ट्रिगर दबा दिया। घटना के समय उनकी पत्नी बाथरूम में थीं। गोली चलने की आवाज सुनकर वह बाहर आईं तो पति को खून से लथपथ पाया।


राष्ट्रवादी पत्रकारिता को समर्थन देने हेतु हमे आर्थिक सहयोग करे. DONATE NOW पर क्लिक करे
DONATE NOW

Share