देवबंद निकला है सलाह देने संघ प्रमुख भागवत जी को ….

जब कोई हिन्दू इन कट्टर समुदाय के लोगों पर अपनी विचारधाराएं रखे तो यह लोग उस पर कढ़ी कार्यवाही करने की मांग करते है लेकिन जब यह कट्टर समुदाय खुद हिन्दू समुदाय को निशाना बनाते तब क्यों अपने ऊपर हुई कार्यवाही से आपत्ति जताते है। बता दें कि 5 दिसंबर को सुप्रीम कोर्ट राम मंदिर का फैसला लेने वाला है लेकिन फिर भी ये कट्टरवादियों कोर्ट के फैसले का इंतज़ार करने के बजाए हिन्दू समुदाय पर टिपण्णी करते नज़र आते है। हिन्दू आस्था पर तो चोट करने से पीछे नहीं हटते ये कट्टरवादी और अब तो ये हिन्दू संगठनों के नेताओं पर भी निशाना साधने से पीछे नहीं हट रहे है। इस बार समुदाय विशेष ने आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत पर निशाना साधा है। 

हाली में ही कर्नाटक में विश्व हिंदू परिषद की धर्म संसद में आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत के बयान की ये समुदाय विशेष आलोचनाएं करता नज़र आ रहा है। आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत के कहा था कि,”राम मंदिर अयोध्या में बन कर रहेगा ”जिसे यह कट्टर समुदाय के लोग एक बढ़ा मुद्दा बनाने में लगे हुए है। यह कट्टर समुदाय के लोग सिर्फ एक बयान के जरिए हिन्दू समुदाय पर विशेष टिपण्णी करने में लगे हुए है। राम मंदिर विवाद पर दिए बयान की देवबंदी उलमा ने आलोचना करते हुए कहा कि ,”जब मामला उच्चतम न्यायालय में विचाराधीन है तो फिर ऐसी बयानबाजी का क्या मतलब है और कोर्ट इसका संज्ञान लेकर ऐसे लोगों पर कार्रवाई करे।” वही मदरसा हकीमुल इस्लाम के मोहतमिम मौलाना कारी रहीमुद्दीन ने भाजपा को निशाना बनाते हुए कहा है कि,”भाजपा और बीजेपी और आरएसएस के लोग इस तरह फिजूल की बयानबाजी करने लगते हैं ताकि चुनाव में वे इसका लाभ उठा सकें।” इसके साथ ही उन्होंने इस मामले को इतना बढ़ा बना दिया कि उन्होंने इस कोर्ट को इस ब्यान पर कढ़ी कार्यवाही करने की मांग की है। ऐसे बयान देकर मौलाना अब्दुल रहमान और देवबंदी उलमा देश में अशांति फैला रहे है।
बता दें कि मौलाना अब्दुल रहमान का कहना है कि ,”अयोध्या मसले में सबकी निगाहें कोर्ट के फैसले पर टिकी हैं। मुसलमानों की ओर से इस मामले की पैरवी कर रहे लोग साफ तौर पर कह चुके हैं कि कोर्ट इसमें जो भी फैसला देगा, वह उसका सम्मान करेंगे। बीजेपी और आरएसएस जैसे संगठन गलत बयानबाजी कर रहे हैं।”बता दे अयोध्या में राम मंदिर बनने का समर्थन सिर्फ भागवत ही नहीं कर रहे हैं बल्कि शिया लोग भी इसका समर्थन करते हुए नज़र आ रहे हैं। यह जानते हुए भी यह कट्टर समुदाय के लोग सलाह देने में लगे हुए हैं।
Share This Post

Leave a Reply