गद्दार ओवैसी के गुर्गों की धमकी के बाद भी शान से रायगढ़ पहुंचे श्री सुरेश चव्हाणके जी.. आस पास भी नहीं दिखा कोई कट्टरपंथी

हैदराबाद के गद्दार मजहबी उन्मादी सांसद ओवैसी के गुर्गे की धमकी के बाद भी सुदर्शन टीवी के चेयरमैन श्री सुरेश चव्हाणके जी आज शान से महाराष्ट्र के रायगढ़ पहुंचे तथा विशाल जनसभा को संबोधित किया. इस दौरान आस पास भी कोई कट्टरपंथी नहीं दिखाई दिया. बता दें कि श्री सुरेश चव्हाणके जी हिंदवा सूर्य तथा मुगल आक्रान्ताओं के लिए खौफ का दूसरा नाम छत्रपति शिवाजी महाराज जी को नमन करने के लिए महाराष्ट्र के रायगढ़ पहुंचे थे. रायगढ़ छत्रपति शिवाजी महाराज के हिन्दवी स्वराज्य की राजधानी था.

इससे पहले गद्दार ओवैसी के गुर्गे मोहम्मद शादाब ने वीडियो सन्देश जारी करके धमकी दी थी कि वह तथा महाराष्ट्र के मुसलमान सुरेश चव्हाणके जी को महाराष्ट्र में नहीं घुसने देगा. गद्दार ओवैसी के गुर्गे की धमकी के बाद आज श्री सुरेश चव्हाणके जी महाराष्ट्र के रायगढ़ पहुंचे. रायगढ़ पहुंचकर श्री सुरेश चव्हाणके जी ने हिंदवा सूर्य छत्रपति महाराज जी को नमन किया तथा रायगढ़ के ऐतिहासिक किले से भाषण दिया. रायगढ़ पहुँच कर श्री सुरेश चव्हाणके जी ने ट्वीट करके गद्दार ओवैसी की चुनौती का जवाब भी दिया कि वह रायगढ़ पहुँच चुके हैं.

रायगढ़ के ऐतिहासिक किले से भाषण देते हुए श्री सुरेश चव्हाणके जी कहा कि जो रायगढ़ छत्रपति शिवाजी महाराज के हिन्दवी स्वराज्य की राजधानी था, उसके ऐतिहासिक किले से भाषण देना उनके लिए बेहद की सौभाग्य की बात है. श्री सुरेश चव्हाणके जी ने कहा कि छत्रपति शिवाजी महाराज हमारे गौरवशाली इतिहास का वो नाम है जिसका स्मरण मात्र आते ही धर्मपुत्रों की धमनियों में लहू लावा बनकर दौड़ने लगता है तो वहीं विधर्मी उनके नाम के स्मरण मात्र से कांप उठते हैं. उन्होंने कहा कि छ्त्र्रपति शिवाजी महाराज ने जिस हिन्दवी स्वराज्य की स्थापना की थी तथा हिंदुस्तान को पुनः विश्वगुरु बनाने का जो सपना देखा था, उस सपने को हमें उन्ही के रास्ते पर चलते हुए पूरा करना है.

सुरेश चव्हाणके जी ने किले से यहाँ पर आए शिवाजी के भक्तो को संबोधित करते हुए कहा कि जिस प्रकार से मुस्लिम समाज एक योजनाबद्ध तरीके से अपनी आबादी को बढ़ाते जा रहा है वह देश के लिए सबसे बड़ा खतरा है. उन्होंने कहा कि मजहबी कट्टरपंथियों की बढ़ती आबादी के कारण हिंदुस्तान के अंदर कई मिनी पाकिस्तान बन चुके हैं. उन्होंने कहा कि अगर हमें छत्रपति शिवाजी महाराज के सपने को पूरा करना है तो मुस्लिमों की तेजी से बढ़ती आबादी को रोकना ही होगा, इसके लिए भारत सरकार को दो बच्चों का कानून बनाना चाहिए.

इस दौरान रायगढ़ किले की हालत पर सुरेश जी ने पुरात्तव विभाग पर भी हमला किया तथा कहा कि पुरातत्व विभाग हमारी ऐतिहासिक धरोहरों के रख रखाव पर उचित ध्यान नहीं दे रहा है. सुरेश जी ने कहा कि हमारे  बच्चों और आज़ाद पीढ़ीयो को अतीत के खंडर को पुनः वैभव प्राप्त करा देती है ऐसे ही  रायगढ़ का गौरव और वैभव पुनः प्राप्त होना चाहिए. शिवाजी महाराज जी के समय जैसा दरबार क़िला और ये राजधानी का चित्र था वैसे पुनः खड़ा करना चाहिए. इसके साथ ही श्री सुरेश जी ने कहा कि जिस तरह से मुंबई को आर्थिक और दिल्ली को राजनीतिक राजधानी बनाया गया है,  वैसे ही रायगढ़ के किले को ऐतिहासिक राजधानी घोषित किया जाना चाहिए.

Share This Post