Breaking News:

UP के अपराधियों पर फिर नाची मौत… ढेर हुआ तौकीर तो खुद पुलिस के पास पहुंचा अतीक और बोला पकड़ लो मुझे


उत्तर प्रदेश में अपराधियों के अंदर एक बार पुनः वो खौफ दिखाई दिया है, जिसकी चर्चा यूपी में योगी सरकार आने के बाद से अक्सर की जाती रही है. योगी सरकार आने के बाद न सिर्फ यूपी बल्कि देश ने भी वो द्रश्य देखा है जब उत्तर प्रदेश पुलिस के खौफ के कारण खुद को डॉन कहने वाले बड़े से बड़े अपराधी तख्ती लेकर रहम की भीख मांगते नजर आये थे. जो अपराधी कभी खुद को सत्ता से भी ऊपर समझते थे वो अपराधी कई बार योगी सरकार में जान की भीख मांगते हुए दिखाई दिए हैं.

टप्पल की महिलाओं का जीना हराम कर रखा था असलम ने.. सबकी खामोशी टूटी ट्विंकल के बलिदान के बाद

ऐसा ही नजारा यूपी में एक बार पुनः देखने को मिला जब उत्तर प्रदेश की प्रतापगढ़ पुलिस ने 1 लाख के इनामी कुख्यात अपराधी तौकीर को ढेर कर दिया. पुलिस मुठभेढ़ में तौकीर के ढेर होने के बाद उसके साथी पचास हजार के इनामी अतीक का हौसला टूट गया तथा उसके सर पर मौत का खौफ नाचने लगा. इसके बाद उसने मुंबई पुलिस से सेटिंग कर सरेंडर कर दिया. सूचना मिलने पर मुंबई से कोतवाली पुलिस उसे लेकर प्रतापगढ़ लौट आई है. पुलिस की पूछताछ में उसने कई घटनाओं के राज उगले हैं। जिसकी पुलिस गहराई से जांच कराई जा रही है.

शुभकामनाएं दीजिये अमेरिका की जेसिका को जिन्होंने अपना जीवन साथी चुना है भारत के जसवीर को और बस गई हैं भारत में

बता दें कि 1 लाख के इनामी कुख्यात तौकीर अहमद निवासी आजाद नगर को एसटीएफ लखनऊ के एसएसपी अभिषेक सिंह की टीम ने चिलबिला कोट के करीब मुठभेड़ में मार गिराया था. तौकीर के साथी अतीक पुत्र रउफ पर पुलिस ने 50 हजार का इनाम घोषित कर रखा था. पुलिस मुठभेड़ में तौकीर के मारे जाने की खबर के बाद अतीक के भीतर पुलिस का खौफ समा गया. वह अपनी जिंदगी बचाने व पुलिस की गिरफ्त से बचने के लिए भागता रहा. सूत्रों की मानें तो बिचौलियों ने उसके सरेंडर की पेशकश भी पुलिस व एसटीएफ के सामने की, लेकिन हर जगह से इनकार हो गया. जिसके बाद अतीक के करीबियों ने मुंबई के साकीनाका थाने की पुलिस से सेटिंग कर उसें सरेंडर करा दिया.

बलिदान से बदल रहा बंगाल… हिन्दू विरोध का पर्याय बन चुकीं ममता का एक विधायक और 12 पार्षद थाम लिए भगवा ध्वज..

अतीक को हिरासत में लेने के बाद साकीनाका पुलिस ने प्रतापगढ़ पुलिस को जानकारी दी थी. उसे लेने के लिए कोतवाली पुलिस के उपनिरीक्षक मुंबई भेजे गए थे, जिसे लेकर पुलिसकर्मी शनिवार देर रात लौट आए. अतीक से पुलिस अफसर से लेकर कोतवाली पुलिस लगातार पूछताछ करती रही. पुलिस सूत्रों की मानें तो पूछताछ में पुलिस को कई राज मिले हैं जिनकी हकीकत का पता  लगाया जा रहा है. अतीक ने बताया कि तौकीर के एनकाउंटर के बाद उसके मन में पुलिस का खौफ समा गया था. वह सरेंडर करने के लिए परेशान था.

जिस लड़की पर ममता बनर्जी ने गिराया था सत्ता का कहर अब उस पर गई मोदी की नजर.. मिला एक शानदार तोहफा

उसने बताया कि व्यापारियों से रंगदारी मांगने के समय वह तौकीर के साथ ही था. मार्बल व्यापारी राजेश व अशोक शर्मा हत्याकांड में पहले वह शामिल होने की बात से इनकार करता रहा हालांकि बाद में उसने साथ में होने की बात स्वीकारी, लेकिन गोली तौकीर व दूसरे द्वारा मारने की बात बताई. उसने कि तौकीर ही राजेश सिंह की हत्या की सुपारी देने वाले को जानता था. हालांकि कुछ क्लू पुलिस को मिले हैं, जिसकी गहनता से छानबीन करने में पुलिस जुट गई है.

राष्ट्रवादी पत्रकारिता को समर्थन देने के लिए हमें सहयोग करेंनीचे लिंक पर जाऐं


सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को आर्थिक सहयोग करे और राष्ट्र-धर्म रक्षा में अपना कर्त्तव्य निभाए
DONATE NOW

Share