4 लाख की मोस्ट वांटेड नक्सली ने टेक दिए घुटने… बोली- “अब लड़ने की जरूरत नहीं, देश सही राह पर”

देश में बदलाव की लहर उस समय सहज ही दिखाई देने लगी जब लंबे समय नक्सली संगठनों के साथ मिलकर आपने ही देश के खिलाफ जंग लड़ने वाली 4 लाख की मोस्ट वांटेड नक्सली कक्का बुज्जी ने हथियार रख दिए तथा ये कहते हुए मुख्यधारा में लौटने का एलान कर दिया है कि अब अपने ही देश के खिलाफ जंग लड़ने की कोई जरूरत नहीं है क्योंकि देश सही दिशा में जा रहा है तथा अब वह देश के खिलाफ नहीं बल्कि देश के लिए लड़ना चाहती है, देश की उन्नति में अपना योगदान देना चाहती है.

आपको बता दें कि मोस्ट वांटेड नक्सली कक्का बुज्जी ने मंगलवार को नलगोड़ा में पुलिस के सामने आत्मसमर्पण कर दिया तथा आपने हथियार रख दिए. कक्का बुज्जी के आत्मसमर्पण के दौरान जिला एसपी एवी रंगनाथ भी मौजूद थे. एसपी रंगनाथ ने बताया कि कक्का बुज्जी के उपर 4 लाख रुपए का इनाम था. जन बी अर्थात कक्का बुजी ने महज 18 साल की उम्र में अपना घर छोड़ दिया था और 2004 में माओवादियों साथ जुड़ गई थी. जन बी ने जिला पुलिस कार्यालय में मीडिया के सामने समर्पण किया है. तकरीबन 13 साल तक माओवादी संगठनों के साथ काम करने वाली जान बी ने दूसरे माओवादी किरण से 2007 में शादी कर ली थी,  उसका एक ऑपरेशन के दौरान एनकाउंटर किया गया था, जिसमे किरण की मौत हो गई थी.

जन बी अर्थात कक्का बुज्जी पर 4 लाख रुपए का इनाम था, ऐसे में उसे 50000 रुपए पुनर्वसन के लिए और दिया जाएगा. नलगोड़ा एसपी रंगनाथ ने बताया कि समाज में जन बी को फिर से शामिल करने के लिए हर संभव प्रयास किया जाएगा तथा उन्होंने अन्य नक्सलियों से भी हथियार छोड़कर समाज की मुख्यधारा में लौटने की अपील की.

Share This Post