#HydrabadAzadNhi रोहिंग्या आक्रांता व बांग्लादेशी घुसपैठिये हैदराबाद में बो रहे हैं जहर.. लेकिन हैदराबाद पुलिस जुटी है तिरंगा यात्रा रोकने में

क्या आप सोच भी सकते हैं कि हिंदुस्तान के एक ऐतिहासिक शहर में किसी हिन्दुस्तानी को हिन्दुस्तान का ही राष्ट्रध्वज तिरंगा फहराने से रोक दिया जाए, तिरंगा यात्रा में शामिल होने से रोक दिया जाए तथा उसको गिरफ्तार कर लिया जाये. वो भी उस दिन जिस दिन पूरा देश आजादी का पर्व मना रहा है. आपका जवाब निश्चित रूप से नहीं होगा लेकिन अफ़सोस ऐसा हुआ है तेलंगाना की राजधानी हैदराबाद में जहाँ स्वतंत्रता दिवस पर आयोजित की गयी तिरंगा यात्रा में शामिल होने गये सुदर्शन टीवी के प्रधान संपादक श्री सुरेशच चव्हाणके जी को हैदराबाद पुलिस ने तिरंगा यात्रा में शामिल नहीं होने दिया तथा उन्हें गिरफ्तार कर लिया.

आश्चर्य होता है कि हैदराबाद को बौद्धों तथा हिन्दुओं के हत्यारे रोहिंग्या तथा बंगलादेशी घुसपैठिये संक्रमित कर रहे हैं और हैदराबाद पुलिस, तेलंगाना सरकार मौन साधे बैठी है. लेकिन जब एक राष्ट्रवादी पत्रकार तिरंगा यात्रा में शामिल होने के लिए हैदराबाद जाता है तो उसको रोकने के लिए पुलिस प्रशासन पूरी ताकत लगा देता है तो क्या ये माना जाए कि हैदराबाद आजाद नहीं है या फिर हैदराबाद कश्मीर बन रहा है जहाँ मजहबी उन्मादी इतने अधिक ताकतवर हो गये हैं कि वह तिरंगा यात्रा को निकलने नहीं दे सकते, स्वतंत्रता दिवस पर भी तिरंगा नहीं फहराने दे सकते.

अभी हाल ही में तीन दिन पहले ही हैदराबाद से NIA ने दो ISIS आतंकियों को गिरफ्तार किया है लेकिन हैदराबाद इन आक्रान्ताओं की, जिहादी उन्मादियों की छानबीन करने के बजाय राष्ट्रवादियों को निशाने पर ले रही है. लेकिन जिस तरह से आजादी के दिन हैदराबाद पुलिस ने श्री सुरेश चव्हाणके जी को तिरंगा यात्रा में शामिल नहीं दिया वो कोई छोटी बात नहीं है बल्कि हिन्दुस्तान के भविष्य की एक झलक है कि अगर जिहादियों को न रोका गया तो आज हैदराबाद में हुआ है वो कल को पूरे देश में होगा.

सुदर्शन न्यूज को आर्थिक सहयोग करने के लिए नीचे DONATE NOW पर क्लिक करे
DONATE NOW