आतंकी संगठनों ने अपनी बदली रणनीति के तहत मिलाया हाथ, एकजुट हुए सभी

श्रीनगर : कश्मीर में आतंकियों ने फिर घटिया हरकत को अंजाम दिया है। पुलिस कार्रवाई में मारे गए आतंकवादी के जनाजे में चार आतंकवादी शामिल हुए। इस दौरान उन्होंने जनाजे को ‘गन सल्यूट’ दिया और हवा में कई राउंड फायर किए। कुछ संदिग्ध आतंकी वहां आए और उन्होंने एके-47 से हवाई फायरिंग शुरू कर दी।

इस घटना से वहां भगदड़ मच गई। बता दें कि कुलगाम के कोईमोह एरिया में रहने वाले फयाज को इंडियन सिक्युरिटी फोर्सेस ने शनिवार को एनकाउंटर में मार गिराया था। इन दिनों आतंकवाद सरकार के सामने कड़ी चुनौती है। आतंकियों ने न सिर्फ अपनी रणनीति में बदलाव किया है बल्कि सामाजिक स्वीकार्यता को भी बढ़ावा मिला है।

पुलिस के अनुसार आतंकवादियों में स्थानीय युवकों की संख्या पिछले दो दशकों में सबसे ज्यादा हुई है। पुलिस के मुताबिक नई पीढ़ी के आतंकवादियों में स्थानीय युवकों की संख्या पिछले दो दशकों में सबसे ज्यादा हो गई है। खास बात यह है कि अलग-अलग आतंकवादी संगठन सिर्फ कहने को अलग रह गए हैं, जमीन पर सभी एक नजर आते हैं।

जम्मू-कश्मीर पुलिस के मुखिया एसपी वैद के मुताबिक, दो सबसे खतरनाक आतंकी संगठन हिजबुल मुजाहिदीन और लश्कर-ए-तैयबा इन दिनों साथ मिलकर ऑपरेट कर रहे हैं। उन्होंने कहा, ‘हमें इन आतंकी संगठनों के बीच कोई अंतर नजर नहीं आता। ये सभी हमारे के लिए आतंकवादी हैं। हालांकि, हमें ऐसे इनपुट्स मिले हैं कि आजकल वे साथ मिलकर काम कर रहे हैं।’ 


राष्ट्रवादी पत्रकारिता को समर्थन देने हेतु हमे आर्थिक सहयोग करे. DONATE NOW पर क्लिक करे
DONATE NOW

Share