एक दूसरे के ही कत्ल पर आमादा कश्मीरी आतंकी.. पूर्व आंतकी का लहू बहाया वर्तमान आतंकी ने

एक आतंकी आतंक का रास्ता छोड़कर अच्छी जिंदगी जीने के लिए चल ही पड़ा था कि उसके ही कुछ साथियों ने उसकी गोली मारकर हत्या कर दी। वो आतंकी उस आतंक की दुनिया का सच जान चुका था, उसके सामने कट्टरवाद का सारा सच सामने आ चुका था। वो जान चुका था कि इस आतंक की दुनिया में उसका कोई भविष्य नहीं है और ना ही कोई जीवन है, इसमें सिर्फ मौत ही मौत है।

इसलिये उसने इस रास्ते को छोड़कर सम्मान भरा रास्ता चुना, लेकिन उन आतंकियों को ये रास नहीं आया और उसकी हत्या कर दी। दक्षिण कश्मीर के पुलवामा जिले के त्राल कस्बे में आतंकी रफीक अहमद भट्ट आतंक की दुनिया को छोड़कर सम्माजनक जिंदगी जीने के लिए आगे ही बढ़ा था कि उसके साथियों को यह रास नहीं आया और उन्होंने उसकी हत्या कर दी। घटना को तुरंत अंजाम देने के बाद आतंकी वहां से फरार हो गए।

सुरक्षाबलों ने उन आतंकियों को पकड़ने के लिए तलाशी अभियान भी शुरू कर दिया है। रफीक अहमद कस्बे के मुख्य बाजार में फलों की दुकान चलाता था। जानकारी के मुताबिक, आतंकियों को दिवंगत पर सुरक्षाबलों के लिए मुखबिरी करने का संदेह था और इसलिए उसकी हत्या की गई। रफीक ने जब दोपहर को दुकान खोली तो बाइक पर कुछ आतंकी आए और उसकी गोली मारकर हत्या कर दी।

Share This Post

Leave a Reply