ISIS के अंदाज में कत्ल का वीडियो बनाना चाहती थी पाक सेना.. सर काटने का रिवाज क्यों?

पुंछ इलाके से बरामद जंग संबंधित सामान पाकिस्‍तान के बर्बर मंसूबों का सबूत दे रहा है। भारतीय सेना को अंदेशा है कि पाकिस्तान की बॉर्डर एक्शन टीम (बैट) के ऑपरेशन के दौरान पुंछ जिले में एलओसी पर मारे गए दो हथियारबंद घुसपैठिए पाकिस्तानी सेना के एसएसजी के कमांडो हो सकते हैं। 
बैट द्वारा सैनिकों पर हमला किए जाने के बाद उनका बर्बर चेहरा सामने आया है। सुत्रों के मुताबिक, एक्शन टीम के सैनिक अपने साथ खास तरह से सिर पर बांधे जा सकने वाले कैमरे लेकर आए थे ताकि भारतीय सैनिकों को हत्या को रिकॉर्ड कर सकें। हालांकि, भारतीय ने एक हमलावर को मार गिराया और एक को घायल कर दिया। 
अब ये जांच का विषय है कि वो कैमरा का कनेक्शन लाइव था या उसमें रिकॉर्डिंग हुई थी और कैमरा के डाटा का विश्लेषण किया जाएगा। वहीं, इस मामले की जांच कर रहे अधिकारी का कहना है कि हमारे सेना की जवानों की जवाबी कार्रवाई ने इस बैट की योजना का विफल कर दिया। 
इसके साथ ही कहा है कि आतंकी किसी खास खास तरह के खंजर और चाकू ले कर आए थे, जिसका मतलब है कि वह भारत में सैनिको को तुरंत मारने और सिर काटने के इरादे से आए थे। अधिकारी ने कहा कि हमें विश्वास है कि बैट का दूसरा हमलावर भी मारा गया है लेकिन उसका शव बैट के अन्य सदस्य फायरिंग में वापस ले गए थे। 
Share This Post