नाथूराम गोड्से का स्मारक स्वीकार नहीं महाराष्ट्र की उस सरकार को जिसे चला रही है भाजपा और शिवसेना


मुंबई : महाराष्ट्र सरकार कल्याण के निकट नाथूराम गोडसे का प्रस्तावित स्मारक नहीं बनने देगी। वह ठाणे जिले में महात्मा गांधी के हत्यारे नाथूराम गोडसे के स्मारक के निर्माण को रोकने के लिए कदम उठाएगी। बता दें कि जीएसटी पर चर्चा के लिए चल रहे महाराष्ट्र विधानमंडल के विशेष सत्र के दौरान कांग्रेस के विधान परिषद सदस्य संजय दत्त ने यह मामला उठाया।

उन्होंने कहा कि महात्मा गांधी को मारने वाली फासिस्ट ताकतें राज्य में सिर उठा रही हैं और राज्य सरकार जानबूझकर उन्हें नजरअंदाज कर रही है। इसके साथ ही दत्त ने कहा कि ‘सबका साथ, सबका विकास’ का नारा देकर सत्ता में आई भाजपा नीत सरकार अब ‘मुंह में राम, दिल में नाथूराम’ की कहावत चरितार्थ करने जा रही है।

दत्त ने सरकार से इस स्मारक के मामले में तत्काल हस्तक्षेप करने और इसके दोषियों और इस मामले में तत्काल कार्रवाई करने में नाकाम रहे संबंधित प्रशासन के खिलाफ कड़ी कार्रवाई शुरू करने का आग्रह किया। गौरतलब है कि कुछ दिनों पहले ही महासभा के नेता प्रमोद जोशी ने कहा था कि सापड में स्मारक के निर्माण के लिए 2000 एकड़ भूमि खरीदी गई है। इस भूखंड पर सामान्य जन के सहयोग से उसी प्रकार नाथूराम गोडसे का स्मारक बनेगा, जैसा मुंबई के दादर में स्वतंत्रता सेनानी वीर सावरकर का स्मारक बना हुआ है।


सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को आर्थिक सहयोग करे और राष्ट्र-धर्म रक्षा में अपना कर्त्तव्य निभाए
DONATE NOW

Share