“अगर मुसलमानों के इलाके से कांवड़ निकाली तो बम से उड़ा दिया जाएगा बरेली स्टेशन” — सेक्यूलर भारत में अब ऐसी धमकियां

ये उस कथित नकली सेक्यूलर राजनीति का ही असर है कि पवित्र श्रावण मास में कांवड़ यात्रा निकालने पर पूरे बरेली स्टेशन को बम से उड़ाने की धमकी दी गई है.इस्लामिक आतंकी दल इंडियन मुजाहिदी की तरफ से धमकी भरा पत्र भेजा गया है जिसमें लिखा है कि अगर बरेली में मुस्लिम एरिया से कांवड़ यात्रा निकालने की कोशिश की गई तो बरेली रेलवे स्टेशन को बम से उड़ा दिया जाएगा. बरेली स्टेशन मास्टर के नाम धमकी भरा पत्र भेजने वाले ने खुद को आतंकी संगठन आइएम का एरिया कमांडर बताया है.

जिस ट्रक ने रौंदा है उन्नाव की रेप पीड़िता को वो ट्रक निकला समाजवादी पार्टी के नेता का.. सोनभद्र नरसंहार के बाद अब उन्नाव मामले में भी समाजवादी कनेक्शन

खबर के मुताबिक़, स्टेशन मास्टर को डाक के जरिये खत भेजने वाले ने खुद को आतंकी संगठन इंडियन मुजाहिदीन (आइएम) का एरिया कमांडर मुन्ने खां उर्फ मुल्ला बताया है. उसने मुस्लिम क्षेत्र में कांवड़ यात्रा निकालने पर जंक्शन को बम से उड़ाने की धमकी दी है. इस खत मिलने के बाद स्टेशन के अधिकारियों में अफरा-तफरी मच गई है. यहां पर रात में आनन-फानन जंक्शन पर आरपीएफ और जीआरपी जवानों की गश्त तेज कर चेकिंग अभियान शुरू किया. जिला प्रशासन और सिविल पुलिस को भी इसकी जानकारी दी गई.

बलात्कार से मन नहीं भरा शाहिद का तो बनाई वीडियो और मांगे लाखों रूपये.. पैसे पा कर भी कर डाला जीवन तबाह

अलर्ट जारी होने के बाद बाद शीर्ष प्रशासनिक अफसर, खुफिया विभाग के साथ सिविल पुलिस ने भी जंक्शन पर लगातार कई चरणों में निरीक्षण और निगरानी शुरू कर दी है. बम और डॉग स्क्वाड से भी जंक्शन का चप्पा-चप्पा छाना गया. धमकी को गंभीरता लेते हुए एसएसपी मुनिराज ने ख़ुफ़िया ईकाइयों को सक्रिय कर सघन चेकिंग शुरू करवा दी है. सीओ सिटी अशोक कुमार यादव ने बताया कि बरेली जंक्शन पर सघन तलाशी ली गई है. उन्होंने बताया कि एक धमकी भरा ख़त भी मिला है. उसको संज्ञान में लेते हुए भी सघन तलाशी अभियान चलाया जा रहा है. उन्होंने बताया कि अभी तक कुछ भी संदिग्ध नहीं मिला है, लेकिन पुलिस पूरी तरह से चौकसी बरत रही है.

30 जुलाई: बलिदान दिवस गोलियों से छलनी वो वीर अस्पताल नहीं इस्लामिक आतंकियों की तरफ दौड़ा और मार गिराया 2 को. कुपवाड़ा के रक्षक बबलू सिंह

मुन्ने खां उर्फ मुल्ला, एरिया कमांडर, आइएम, बरेली मंडल के खत में लिखा है कि मैं एरिया कमांडर आइएम, रेलवे स्टेशन मास्टर को अवगत कराता हूं कि मुसलमान क्षेत्र में कांवड़ यात्र निकली तो जंक्शन को उड़ा दूंगा. अभी मैं शांति से काम चाहता हूं. आप शासन-प्रशासन को अवगत करा देना. बरेली स्टेशन मास्टर के पास डाक के जरिए पहुंचे खत में दो मुहर लगी हैं. एक बरेली की रिसीङ्क्षवग मुहर है. वहीं, लिफाफे के अगले हिस्से पर डाक टिकट के साथ लगी मुहर साफ नहीं है. बावजूद इसके संबंधित जांच अधिकारी टिकट और मुहर के जरिए डाक महकमे की मदद से यह पता लगाने की कोशिश में जुटे हैं कि खत कहां से भेजा गया.

राष्ट्रवादी पत्रकारिता को समर्थन देने के लिए हमें सहयोग करेंनीचे लिंक पर जाऐं

Share This Post