बंगाल में चला तानाशाही का दौर.. ममता व उनके शासक का विरोध करने वाले 3 भेजे गए सलाखों के पीछे


स्वागत है ममता के बंगाल में, ममता का बंगाल जहाँ दुर्गा पूजा सबसे चर्चित त्यौहार है और वही मूर्ति विसर्जन होने पर रोक लगा दिया जाता है। ममता का बंगाल जहां से हिन्दुओ पर इतना अत्याचार किया जाता है कि वो वहाँ से पलायन करने पर मजबूर हो जाते है और अब हिन्दुओ को बस इसलिए पकड़ लिया गया क्योकि उन्होंने अपने हक़ की आवाज उठाई थी और सरकार की नीतियों से होने वाली दिक्कतों को सामने रखा था सरकार के, अब उनको बंगाल की ममता सरकार उनको प्रताड़ित कर रही है।  

विदित हो की ममता का हिन्दू विरोधी होने के साथ हिटलर वादी नीति पर चलना चालू कर दिया है। ये मामला “तृणमूल कांग्रेस द्वारा शासित राज्य बंगाल के पड़ोसी राज्य का मामला है जिसके बाद इस विवाद ने तूल पकड़ लिया। ममता अब अपने रसूख का इस्तेमाल कर उनको कानून से पकड़वा दिया है। आपको बता दे की एक अन्य मामले में उत्तर बंगाल के बालूरघाट के निवासी अनुपम तरफदार और देबजित रॉय को गिरफ्तार कर लिया गया है। जिन्होंने दुर्गा पूजा के दौरान शहर के यातायात पर फेसबुक के द्वारा आलोचना की थी।
27 सितंबर को, रॉय ने बंगाली में एक पोस्ट अपलोड किया था। द टेलीग्राफ में एक रिपोर्ट के मुताबिक उन्होंने कहा था कि “बाईकर्स’ जो भी आप करते हैं। अगर आप व्यापारी हैं तो आप को अपनी गाड़ी शाम 4 बजे से पहले पहले ही गैराज में पार्क करनी पड़ेगी वरना आप घर वापिस नहीं जा सकते।’ देबजित रॉय ने एक अन्य पोस्ट में अपने 18 महीने के बच्चे और गर्भवती पत्नी के साथ 5 किमी चलने के का भी ज़िक्र किया उन्होंने कहा कि या उसके लिए दुखद अनुभव रहा।
उन्होंने कहा कि ऐसा उन्हें करना पड़ा क्योंकि उन्हें किराए पर लेने के लिए टोटो (बैटरी संचालित रिक्शा) या साइकिल रिक्शा नहीं मिला। सोशल मीडिया पर यह पोस्ट वायरल हो गयी। देबजित रॉय की पत्नी प्रियदर्शिनी ने संवाददाताओं से कहा कि उन्हें गुरुवार शाम पुलिस ने थाने में बुलाया घंटों पूछताछ के बाद उन्हें गिरफ्तार कर लिया गया गया था। आपको बता दे की एक और व्यक्ति को गिरफ्तार किया गया है। एक अन्य मामले में जादवपुर विश्वविद्यालय के एक प्रोफेसर अम्बिकेश महापात्रा को गिरफ्तारी कर लिया गया है| उन्हें मुख्यमंत्री ममता बेनर्जी का कार्टून बनाने के लिए गिरफ्तार किया गया|

सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को आर्थिक सहयोग करे और राष्ट्र-धर्म रक्षा में अपना कर्त्तव्य निभाए
DONATE NOW

Share