एक ऐसी जगह जहां एलान हुआ है BJP को वोट न देने का.. लोग मांग रहे सुरक्षा क्योंकि उन्हें दिखाया गया डर का आईना


अगर तुमने भारतीय जनता पार्टी के उम्मीदवार को वोट दिया तो इसका अंजाम भुगतना पड़ेगा… एव धमकियां दी जा रही हैं उन लोगों को जो भारतीय जनता पार्टी के समर्थक हैं तथा नरेंद्र मोदी जी को दोबारा प्रधानमंत्री बनाने के लिए वोट करने की बात कह रहे हैं. इस घटनाक्रम से साफ़ है कि ये धमकियाँ देश के संविधान को, लोकतंत्र को सीधी चुनौती है तथा ये धमकियां भी उस पार्टी के कार्यकर्ताओं द्वारा दी जा रही हैं जो उत्तर प्रदेश में महागठबंधन का हिस्सा है तथा ये महागठबंधन लोकतंत्र बचाने के नारे के साथ ही चुनाव लड़ रहा है.

सैनिकों के लिए एक नई व्यवस्था पर नाराज हो गये भारत के लोगों से वोट लेने वाले दो बड़े नेता.. इन दोनों नेताओं के निशाने पर अब तक भाजपा थी

मामला उत्तर प्रदेश के बागपत के बड़ौत कोतवाली इलाके जोनमाना गांव का है. खबर के मुताबिक़, लोकसभा चुनाव 2019 के मतदान से पहले बागपत जिले के कई गांवों में आरएलडी के कार्यकर्ताओं की दबंगई के मामले सामने आये हैं. आरोप है कि आरएलडी के कार्यकर्ता दलित वोटरों को धमकियां देकर बीजेपी को वोट नहीं करने का दबाव बना रहे हैं. दहशत में आए वोटरों ने सुरक्षा की मांग की है. इसके बाद सांसद तथा बीजेपी प्रत्याशी सत्यपाल सिंह ने ग्रामीणों को सुरक्षा का भरोसा दिलाया है तथा, पुलिस के अधिकारी मामले की गंभीरता को देखते हुए ग्रामीणों को सुरक्षा देने की बात कह रहे हैं.

5 अप्रैल- दांतेवाडा में नक्सलियों से 2010 के युद्ध में अमर हुए CRPF के 73 योद्धाओं को शत-शत नमन

जोनमाना गांव के बीजेपी के वोटरों(दलित) का आरोप है कि गांव के दबंग आरएलडी कार्यकर्ता दलित और कमजोर तबके के वोटरों पर बीजेपी को वोट नहीं देने का दबाव बना रहे हैं. इसीलिए उन्हें डर है कि दबंग उनपर मतदान के दिन उन्हें बीजेपी को वोट नहीं देने के लिए रोकेंगे और विरोध करने पर पिछले चुनाव की तरह हमला कर देंगे. बता दें कि 2014 लोकसभा चुनाव के दौरान जोनमाना गांव में बीजेपी के प्रत्याशी डॉ. सत्यपाल सिंह को वोट करने पर दबंगों ने लोगों के साथ मारपीट की थी.

बीटेक के उस छात्र को सभी देशभक्त मानते थे.. फिर एक दिन उसकी फोटो हुई वायरल तब पता चला कि वो कुछ और था

ग्रामीणों ने पुलिस के अधिकारियों से सुरक्षा की मांग की है. वहीं, पूरे मामले को लेकर सांसद डॉ. सत्यपाल सिंह ने कहा कि केंद्र और प्रदेश में बीजेपी की सरकार है और किसी ने भी अगर वोट डालने से रोका या किसी वोटर के साथ बदसलूकी की तो उसके खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी. मामले की गंभीरता को देखते हुए पुलिस के अधिकारी मामले की जांच में जुटे हैं. अपर पुलिस अधीक्षक रणविजय सिंह का कहना है कि गांव में जाकर लोगों से बात की जाएगी और ग्रामीणों को सुरक्षा दी जाएगी, ताकि गांव का माहौल खराब न हो. गांव के मतदान केंद्र को अतिसंवेदनशील घोषित किया गया है.

न्यूजीलैंड मस्जिद के हमलावर को सोशल मीडिया पर कहा जा रहा था “भटका हुआ नौजवान”.. क्या अब वो सही साबित होने जा रहा ?


सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को आर्थिक सहयोग करे और राष्ट्र-धर्म रक्षा में अपना कर्त्तव्य निभाए
DONATE NOW

Share