Breaking News:

तमिलनाडु में मैरी की वो प्रतिमा तोड़ डाली गयी जिसे ईसाई बुलाते थे मदर के नाम से

दक्षिण भारत के राज्य तामिलनाडू के खूबसूरत शहर कन्याकुमारी से एक ऐसा मामला सामने आया है, जिसके बाद देशभर के ईसाई समुदाय में आक्रोश व्याप्त है. जानकरी मिली है कि कन्याकुमारी में मैरी की एक प्रतिमा को तोडा गया है. मैरी की ये परतिमा 100 साल पुरानी बताई गयी है. ईसाई समुदाय में मैरी को मदर मैरी कहा जाता है. तमिलनाड़ू के कन्याकुमारी में सूरज उगने और ढलने के नजारें देखने लायक होते हैं. इस खूबसूरत शांत तटीय शहर में 100 साल पुरानी मदर मैरी की मूर्ति को नुकसान पहुंचाने का मामला सामने आने के बाद तनाव व्याप्त है.

स्थानीय पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार यहां के चर्च में मदर मैरी की प्रतिमा को नुकसान पहुंचाया गया है. ईसाई समुदाय में मदर कही जाने वालीं मैरी की प्रतिमा तोड़े जाने का ये मामला सोमवार का है. प्रतिमा के बारे में कहा जा रहा है यह प्रतिमा तकरीबन 100 साल पुरानी है. चर्च में प्रार्थना करने के लिए आने वाले लोगों ने पाया कि प्रतिमा के सिर और गर्दन की तरफ के ऊपरी हिस्से को तोड़ने के प्रयास में काफी नुकसान पहुंचाया गया है. घटना से आक्रोशित स्थानीय निवासियों ने कोवलम-कन्याकुमारी रोड़ को बंद करके आरोपी लोगों के खिलाफ कार्रवाई की मांग की है. पुलिस ने लोकल लोगों को मामले में सख्त कार्रवाई करने का भरोसा दिया है. मदर मैरी की प्रतिमाँ तोड़े जाने के बाद ईसाई समुदाय काफी आक्रोशित है तथा इसाई संगठनों का कहना है कि मदर मैरी की प्रतिमा को तोड़ना ईसाई समुदाय की धार्मिक भावनाओं के साथ बड़ा खिलवाड़ है तथा ये स्वीकार नहीं किया जायेगा. ईसाई संगठनों का कहना है कि ये हमला चर्च पर नहीं बल्कि ईसाई धर्म पर हमला है. उन्होंने पुलिस से जल्द से जल्द मैरी की प्रतिमा तोड़ने वाले आरोपियों की गिरफ्तारी की मांग की है.

Share This Post