तालिबानियों को भी मात दे गये तमिलनाडु के हिन्दू विरोधी जिन्होंने किया धर्म पर वार…केरल के बाद अब तमिलनाडु में कोहराम


दक्षिण भारत के राज्य तमिलनाडु से एक दिल दहला देने वाली खबर सामने आयी है. एक ऐसी खबर जिस पर आम जन मांस आसानी से विश्वाश नहीं कर पायेगा. लेकिन ये खबर पूरी तरह सच है तथा विधर्मियों ने धर्म पर ऐसा हमला किया जो उनके औरंगजेब के वंशज होने की ओर संकेत करता है या फिर ऐसी घटनाएँ तालिबानी लोग ही करते हैं.

खबर के मुताबिक तमिलनाडु की राजधानी चेन्नई के ट्रिप्लिकेन में लगभग 10-12 बाइक सवार विधर्मियों ने आठ ब्राह्मणों के जनेऊ (पुनाल) जबरदस्ती काट दिए तथा जनेऊ काटकर भाग गये. सवाल उठता है कि आखिर ये कौन सी आधुनिकता है, आखिर ये कौन सी प्रगतिशीलता है जो लोगों को जनेऊ नहीं पहनने देती? ये लोग स्वयं को प्रगतिशील विचारों का परिचायक बताते हैं लेकिन उसके बाद मुग़ल आक्रान्ता औरंगजेब की तरह जनेऊ काटने जैसी वारदात करते हैं.

दक्षिण भारत में पहले केरल और अब तमिलनाडु से ब्राह्मणों के जनेऊ काटने की घटना सामने आयी है. सबसे आश्चर्यजनक बात तो ये है कि लेनिन की मूर्ती तोड़े जाने पर दहाड़ें मार मार कर रोने वाले तथाकथित ढोंगी लोग इस घटना पर चुप हैं? क्या ब्राह्मणों पर इस तरह अत्याचार से जनेऊ काटने से प्रगतिशीलता आती तो ये कार्य तो तालिबान भी करता रहा है. इस आधार पूरा पकिस्तान प्रगतिशील हो गया होता.

लेकिन धार्मिक सांस्कृतिक विरासत वाले भारत में इस तरह की घटना न सिर्फ बहुत ही शर्मनाक है बल्कि अक्षम्य भी है. तमिलनाडू सरकार को इन जनेऊ काटने वाले आरोपियों को गिरफ्तार कर कड़ी सजा देनी चाहिए.


सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को आर्थिक सहयोग करे और राष्ट्र-धर्म रक्षा में अपना कर्त्तव्य निभाए
DONATE NOW

Share