Breaking News:

कभी भगवान श्रीराम के अस्तित्व को नकारने वाले डीएमके चीफ करूणानिधि के जीवन के लिए भगवान से हो रही है प्रार्थना..

लंबे समय से बीमार तमिलनाडु के पूर्व मुख्यमंत्री तथा डीएमके चीफ एम करुणानिधि की तबीयत शुक्रवार को अचानक से ज्यादा बिगड़ गई है. डॉक्टरों की सलाह पर शुक्रवार देर रात उन्हें चेन्नई के कावेरी अस्पताल में भर्ती कराया गया. उनके बेटे एमके स्टालिन ने बताया कि उनकी सेहत स्थिर है. डॉक्टर का कहना है कि उन्हें लो ब्लड प्रेशर और यूरिन इन्फेक्शन की शिकायत है.  करुणानिधि की तबियत में सुधार के लिए राज्य में उनके समर्थकों ने पूजा और हवन शुरू कर दिया है.

आपको बता दें कि आज जब करूणानिधि का स्वास्थ्य ख़राब है तो उनके स्वास्थ्य लाभ के लिये उनकी पार्टी द्वारा, उनके समर्थकों द्वारा पूजा-पाठ, हवन किया जा रहा है लेकिन एक समय ऐसा भी था जब करूणानिधि ने हिन्दुस्तान की पहिचान, सनातन के आराध्य प्रभु श्रीराम के अस्तित्व को ही नकार दिया. डीएमके खुद को नास्तिक पार्टी बताती है. करुणानिधी हवन पूजा पाठ की आलोचना करते रहे हैं तथा देवी देवताओं के अस्तित्व को ही नकारते रहे हैं. लेकिन आज जब उन्हें परेशानी हो रही है, स्वास्थ्य ज्यादा खराब हो रहा है तो डीएमके को वही राम याद आ रहे हैं जिनके अस्तित्व को नकारा गया था, उनके स्वास्थ्य लाभ के लिए उसी पूजा-पाठ, हवन को किया जा रहा है, जिसे करूणानिधि तथा डीएमके ढोंग बताती रही है.

करूणानिधि तथा उनकी पार्टी डीएमके ने ऐसा कोई मौक़ा नहीं छोड़ा जब उन्होंने सनातन के देवी देवताओं को न करा हो, सनातनी पूजा पद्धति, हवन आदि की आलोचना न की हो. लेकिन जब उनका स्वास्थ्य खराब हुआ तो उन्ही देवी देवताओं की पूजा करनी पड़ रही है तथा उनकी शरण में जाना पड़ रहा है, जिनको वह नकारते रहे हैं. करुणानिधि के फिजिशियन डॉ. गोपाल ने बताया- “करुणानिधि की तबीयत बिगड़ने पर उन्हें आगे के इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती कराया गया है. करुणानिधि की स्थिति गंभीर है.

राष्ट्रवादी पत्रकारिता को समर्थन देने हेतु हमे आर्थिक सहयोग करे. DONATE NOW पर क्लिक करे
DONATE NOW